अम्बिकापुरउत्तरप्रदेशछत्तीसगढ़जीवन शैली

BIG BREAKING : धर्म गुरु बालदास की भाजपा में हुई वापसी, बेटे गुरु खुशवंत के लिए इस सीट से मांगी टिकट

Views: 195

Share this article

रायपुर। बीजेपी के प्रदेश प्रभारी ओम प्रकाश माथुर की मौजूदगी में सतनामी समाज के गुरु बालदास के साथ ही उनके पुत्र गुरू खुशवन्त दास, आसंभ दास, गुरु द्वारिका दास, गुरु सौरभ दास, श्रीमती लमीक्षा गुरु डहरिया, नपा अध्यक्ष देवराज जांगड़े, जनपद सदस्य, श्रीमती दिनेश्वरी यशवंत टंडन, जनपद सदस्य विनोद साहु ने आज कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में समर्थकों के साथ भाजपा प्रवेश किया। ठीक चुनाव के पहले धर्मगुरु के भाजपा में शामिल होने के बाद कांग्रेस-भाजपा को होने वाले फायदे और नुकसान को लेकर चर्चा शुरू हो गई है।

भाजपा प्रवेश के साथ ही गुरु बाल दास ने अपने बेटे गुरू खुशवन्त दास के लिए आरंग सीट से टिकट की दावेदारी भी पेश कर दी है। बता दें कि खुशवन्त दास को कांग्रेस सरकार ने औषधि एवं पादप बोर्ड का उपाध्यक्ष बनाया था। हालांकि इससे वे संतुष्ट नहीं थे।

कांग्रेस पर लगाया उपेक्षा का आरोप

मीडिया से चर्चा करते हुए गुरु बालदास ने कहा कि कांग्रेस में सामाजिक तौर पर उनकी बहुत उपेक्षा हुई हैं। उनके साथ भेदभाव किया गया। वहीं समाज के उत्थान के लिए कुछ भी नहीं किया गया । उन्होंने कहा कि भाजपा में सम्मान मिला तो इधर आ गए। इस दौरान उन्होंने बताया कि उनके बेटे गुरु खुशवंत साहेब ने आरंग विधानसभा सीट से भाजपा के टिकट के लिए दावेदारी की है।

बता दें कि गुरु घासीदास के वंशज धर्मगुरु बालदास अभा सतनाम सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और भंडारपुरी पीठ सहित कई धर्मस्थलों के प्रमुख है। उनका सतनामी समाज में खासा प्रभाव है। माना जा रहा है कि गुरु बालदास के इस कदम से कांग्रेस पार्टी को नुकसान हो सकता है।

सीमा हैदर की राजनीति में एंट्री! इस पार्टी ने दिया चुनाव लड़ने का ऑफर; महिला विंग का अध्यक्ष बनाने को तैयार
नक्सल प्रभावित क्षेत्र मुंगेली के एक ही गांव के 8 युवा बने सैनिक

ताजा खबर

जीवन शैली

खेल

गैजेट

देश दुनिया

You May Also Like