छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री विष्णु देव साय आज करेंगे जगार – 2024 ‘हस्तशिल्प एवं हाथकरघा’ प्रदर्शनी का शुभारंभ

Views: 87

Share this article

10 दिवसीय प्रदर्शनी रहेगा राजधानीवासियों के लिए आकर्षण का केन्द्र

रायपुर :- मुख्यमंत्री  विष्णु देव साय राजधानी रायपुर के पंडरी स्थित छत्तीसगढ़ हाट परिसर में रविवार 10 मार्च को जगार-2024 ‘हस्तशिल्प एवं हाथकरघा’ प्रदर्शनी का शुभारंभ करेंगे। छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड द्वारा प्रतिवर्ष की भाँति  इस वर्ष भी जगार-2024 ‘हस्तशिल्प एवं हाथकरघा’ प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है। यह प्रदर्शनी 10 दिनों तक राजधानीवासियों के लिए आकर्षण का केन्द्र बनी रहेगी। इस प्रदर्शनी में छत्तीसगढ़ सहित अन्य 14 राज्यों के 120 से अधिक स्टाल लगाए गए हैं।
इस प्रदर्शनी का शुभारंभ संध्या 7 बजे उप मुख्यमंत्री  अरुण साव, उप मुख्यमंत्री विजय शर्मा, संस्कृति मंत्री  बृजमोहन अग्रवाल, कृषि मंत्री  रामविचार नेताम, वन मंत्री  केदार कश्यप, खाद्य मंत्री दयालदास बघेल, उद्योग मंत्री  लखनलाल देवांगन, स्वास्थ्य मंत्री  श्यामबिहारी जायसवाल, वित्त मंत्रीश्री ओ.पी. चौधरी, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती लक्ष्मी राजवाड़े, राजस्व मंत्री  टंक राम वर्मा, सांसद  सुनील सोनी और विधायक पुरन्दर मिश्रा विशिष्ट अतिथिगणों की गरिमामयी उपस्थिति में होगा।
प्रबंध संचालक, छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड ने बताया कि इस प्रदर्शनी में छत्तीसगढ़ राज्य के सुप्रसिद्ध हस्तशिल्प बेलमेटल शिल्प (ढोकरा), लौह शिल्प, काष्ठ शिल्प, बांस शिल्प, कालीन शिल्प, शिशल शिल्प, गोदना शिल्प, तुमा शिल्प, टेराकोटा शिल्प, छींद-कांसा शिल्प एवं हाथकरघा वस्त्रों में कोसा साड़ियां, दुपट्टा, सलवार सूट, ड्रेस मटेरियल एवं कॉटन बेडशीट, चादरें, ड्रेस मटेरियल, सर्टिंग एवं विभिन्न प्रकार की खादी रेडीमेड वस्त्रों आदि प्रमुख है, इसके अतिरिक्त अन्य राज्यों से उत्तरप्रदेश लखनऊ की चिकनकारी, बनारसी साड़ी, ड्रेस मटेरियल, मध्यप्रदेश की चंदेरी, महेश्वरी साड़ियां एवं बाघ प्रिंट की ड्रेस मटेरियल एवं टीकमगढ़ की पीतल की मूर्तियाँ, पश्चिम बंगाल का जूटवर्क, कांथा वर्क तथा बंगाली साड़ियां सहित, पंजाब की फुलकारी एवं पंजाबी जूतियां, राजस्थान की चर्मशिल्प की मोजरी एवं एम्ब्राईडरी के सलवार सूट, दिल्ली की ज्वेलरी, हरियाणा पानीपत के बेडशीट, महाराष्ट्र के कोल्हापुरी चप्पल, बिहार के भागलपुरी ड्रेस मटेरियल, जम्मू कश्मीर के शॉल एवं साड़ियाँ इस प्रकार कुल 14 राज्यों के विभिन्न शिल्पकलाओं एवं हाथकरघा सामग्री का विशाल संग्रह उपलब्ध रहेगा, जिसमें स्वयं शिल्पकार अपनी उन्नत शिल्पकला के हुनर का प्रदर्शन-सह-विक्रय करेंगे।
10 दिवसीय जगार- 2024 ‘हस्तशिल्प एवं हाथकरघा’ प्रदर्शनी का आयोजन 19 मार्च तक छत्तीसगढ़ हाट परिसर पंडरी, रायपुर में किया जा रहा है, जिसमें प्रतिदिन संध्या 7 बजे से रात्रि 9 बजे तक सांस्कृतिक कार्यक्रम संध्या का भी आयोजन किया जाएगा। यह प्रदर्शनी सुबह 11 बजे से रात्रि 9 बजे तक आम लोगों के लिए खुली रहेगी।

बड़ी खबर : अब साल में तीन बार दे सकेंगे CA फाउंडेशन और इंटरमीडिएट एग्जाम…ICAI की बड़ी घोषणा…जाने पूरी जानकारी
महतारी वंदन योजना की राशि का आज होगा भुगतान…प्रधानमंत्री करेंगे ट्रांसफर

ताजा खबर

जीवन शैली

खेल

गैजेट

देश दुनिया

You May Also Like