छत्तीसगढ़

सरगुजा पुलिस द्वारा ‘‘ऑपरेशन विश्वास’’ के तहत् प्रकरण के आरोपियों की धरपकड़ एवं गिरफ्तारी जारी

Views: 83

Share this article

⏭️ आपराधिक न्यासभंग के मामले में एक आरोपी गिरफ्तार।

⏭️ आरोपी द्वारा ऑनलाईन डिलवरी कम्पनी की राशि का किया गया गबन।

⏭️ ऑनलाईन डेलीवरी कम्पनी में टीम लीटर के पद पर था कार्यरत्।

⏭️ आरोपी द्वारा कैश ऑन डिलवरी के पैसे का हिसाब व कम्पनी के खाते में जमा करने का था काम।

⏭️ घटना उपरांत करीब तीन माह से था फरार।

⏭️ आरोपी द्वारा कुल 1165946/- रूपये का किया गया गबन।

⏭️ आरोपी के कब्जे से कुल 30000/- रूपये किया गया जप्त।

⏭️ थाना कोतवाली पुलिस द्वारा मामले में की गई सख्त कार्यवाही।

सरगुजा  : पुलिस द्वारा ‘‘ऑपरेशन विश्वास’’ के तहत् प्रकरण के आरोपियों की धरपकड़ एवं गिरफ्तारी की कार्यवाही व लगातार व तेजी से की जा रही है। इसी क्रम में थाना कोतवाली पुलिस द्वारा आपराधिक न्यासभंग के मामले में एक आरोपी की गिरफ्तारी की गई है। जिसके कब्जे से 30000/- रूपये जप्त कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल दाखिल किया गया।

मामले का विवरण इस प्रकार है, दिनांक 22/12/2023 को प्रार्थी शशि भूति पिता चित्रगुप्त शरण, उम्र 53 वर्ष, निवासी शकुन्तला निवास, रामनगर, सुपेला, भिलाई थाना वैशालीनगर, जिला दुर्ग के द्वारा इस आशय का रिपोर्ट दर्ज कराय गया, कि वह डिलवरी कम्पनी में सिक्यूरिटी मैनेजर के पद पर शाखा रायपुर में कार्यरत् है, एवं डिलवरी कम्पनी का सेण्टर अम्बिकापुर स्थित संजय पार्क के सामने है, दिनांक 09 सितम्बर 2021 से टीम लीडर के रूप में अमरनाथ साहू जिनका काम कैश ऑन डिलवरी के पैसे का हिसाब रखना, कम्पनी के खाते में जमा करना व सेण्टर के ध्यान रखने की जिम्मेदारी मिली थी। आरोपी अमरनाथ साहू के द्वारा दिनांक 10/12/2023 को कैश ऑन डिलवरी की राशि 1165946/- रूपये को राशि जमा कराने के लिए रात्रि 09.30 बजे वहां मौजूद स्टॉफ के सामने से ले गया, और कम्पनी के खाते में जमा नहीं किया गया। जिसपर से सदर धारा 406, 408 भादसं का अपराध पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया।

मामला पंजीबद्व उपरांत आरोपी की पता-तलाश एवं गिरफ्तारी का हरसंभव प्रयास किया जा रहा था, तकनीकी एवं मुखबीरी सूचना के आधार पर नेपाल, बनारस, प्रयागराज भिलाई इत्यादि स्थानों पर रहने की सूचना मिलती थी। किन्तु बार-बार अपना स्थान बदलने के कारण पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ रहा था, कि जरिये मुखबीर सूचना प्राप्त हुआ कि वह अम्बिकापुर किसी काम से आ रहा है। पुलिस द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए आरोपी को मिशन चौक से घेराबंदी कर पकड़ लिया गया। और उसके कब्जे से कुल राशि 30000/- रूपये मशरूका बरामद किया गया। उसकी गिरफ्तारी कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल दाखिल किया गया।

मामले के आरोपी की गिरफ्तारी एवं पता-तलाश करने में पुलिस सहायता केन्द्र हॉलीक्रॉस हास्पिटल से आरक्षक अशीष चौहान, आरक्षक अमर सिंह इत्यादि की भूमिका महत्वपूर्ण रही।

आबकारी एक्ट के दो अलग-अलग मामलों में 02 आरोपी गिरफ्तार
Breaking : निलंबित IAS रानू साहू व सौम्या चौरसिया से अब जेल में होगी पूछताछ…EOW को कोर्ट ने दी इजाजत

ताजा खबर

जीवन शैली

खेल

गैजेट

देश दुनिया

You May Also Like