छत्तीसगढ़

यदि कांग्रेस पार्टी से इनकम टैक्स वसूल किया जा रहा है तो भाजपा से क्यों नहीं- राजेश दुबे

Views: 499

Share this article

सरगुजा : छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी विधिविभाग के महामंत्री एवं सरगुजा संभाग प्रभारी राजेश दुबे अधिवक्ता ने कहा कि लोकसभा चुनाव नजदीक आते ही भाजपा को हार का डर सताने लगा है ,इसीलिए कांग्रेस पार्टी कोआर्थिक रूप से कमजोर करने के लिए
केंद्र की मोदी सरकार के ईशारे पर इनकम टैक्स विभाग ने कांग्रेस पार्टी के बैंक खातों से 65. 8 करोड़ रुपये और यूथ कांग्रेस के खाते से 4.20 करोड़ ले लिए
जबकि इस मामले में कांग्रेस पार्टी ने इनकम टैक्स अपीलेट ट्रिब्यूनल में अर्जी की थी, जिसमें 21 फरवरी को सुनवाई होनी थी। लोकतंत्र में पहली बार ऐसा देखने को मिल रहा है कि लोकसभा चुनाव से पहले विपक्षी पार्टियों पर ‘कर हमला’ किया गया है।
इसका एक ही मकसद है- कांग्रेस पार्टी को आर्थिक रूप से कमजोर कर दिया जाए, ताकि कांग्रेस चुनाव न लड़ पाए।
कांग्रेस को 2018-19 में 142.83 करोड़ रुपये का चंदा मिला था, जिसमें से 14.49 लाख रुपये कांग्रेस पार्टी के विधायकों और सांसदों की एक महीने की सैलरी से मिले थे।14 लाख रुपये कैश में आने को वजह बताकर कांग्रेस पार्टी के ऊपर 210 करोड़ रुपये की अन्याय पूर्ण पेनाल्टी लगा दी गई।
कांग्रेस पार्टी को 31 दिसंबर तक अपने खातों की जानकारी आयकर विभाग को देनी थी, लेकिन पार्टी ने 2 फरवरी 2019 को दी। ऐसे में पार्टी के सारे पैसे पर यह पेनल्टी लगाई गई। ऐसा आज तक कभी नहीं हुआ। ये कांग्रेस पार्टी को आर्थिक रूप से तोड़ने की कोशिश है ताकि कांग्रेस चुनाव न लड़ पाएं। अगर पार्टी के खाते फ्रीज हो जाएंगे तो पार्टी चुनाव कैसे लड़ेगी, प्रचार कैसे करेगी?
दुबे ने कहा कि राजनीतिक पार्टियां इनकम टैक्स से मुक्त होती हैं।क्योंकि पार्टी के पास जो पैसा आता है वह देश में लोकतंत्र को जिंदा रखने के लिए आता है, यह किसी भी प्रकार की आय नहीं है।
दुबे ने आगे कहा कि क्या BJP ने कभी भी इनकम टैक्स दिया है?
अगर कांग्रेस पार्टी से इनकम टैक्स लिया जा रहा है तो BJP से क्यों नहीं लिया जा रहा है?

CG- होटल संचालक शादी का झांसा देकर कई सालों तक किया रेप…फिर दूसरी युवती से कर ली शादी… और फिर हुआ ये….
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने ली जनरल परेड की सलामी, अधिकारी व जवानों को उत्कृष्ट कार्य के लिए किया प्रेरित

ताजा खबर

जीवन शैली

खेल

गैजेट

देश दुनिया

You May Also Like