अम्बिकापुरछत्तीसगढ़

अपनी गरीबी की दुहाई देने वाले पूर्व खाद्य मंत्री अमरजीत भगत के 13 चहेतो पर IT की पैनी नजर, कलेक्टर को पत्र लिख माँगा 5 साल का संपत्ति का ब्यौरा

Views: 1,487

Share this article

सरगुजा समय समाचार अंबिकापुर :- जैसा की आप सभी को पूर्व से अवगत हैं की कांग्रेस की सरकार मे खाद्य एवं सांस्कृतिक मंत्री रहे अमरजीत भगत अपने अंतिम पांच साल के कार्यकाल मे जमीनी स्तर से 5 फिट ऊपर उठकर राजनीती करना प्रारम्भ कर दिए थे जिसके कारण उनकी इस ओछी हरकतों से आम जनता के साथ साथ शासकीय अधिकारी कर्मचारियों को भी काफ़ी नाराजगी थी जिसका खामियाजा पूर्व मंत्री अमरजीत भगत को करारी हार से भुगतना पड़ा।

एक पुरानी कहावत हैं की यह पब्लिक हैं सब जानती हैं तो पूर्व खाद्य मंत्री अमरजीत भगत का लगातार होता विरोध उनके द्वारा सार्वजनिक रूप से अपने ही P A को गाली देना लागातार अपने विधानसभा क्षेत्र मे भू माफियाओ को संरक्षण देना जैसे बड़े बड़े कारनामें बड़े ही आसानी से कर लिए जिसके एवज मे कई करोड़ों अंदर बाहर हो चूका हैं ऐसा आरोप लागातार अमरजीत भगत के ऊपर लगता रहा हैं, राजनितिक करियर एवं शासन सत्ता आने के बात करें तो राजनीती एवं पार्टी मे लगातार बढ़ते कद को पचा पाने मे असमर्थ नजर आये जैसे जैसे इनका कद बढ़ता जा रहा था इनका चश्मा आँख से उतरते उतरते नाक की ओर बढ़ता जा रहा था ओर मुँह से गाली गलौज एवं अमर्यादित शब्दों का वार लगातार चालू हो गया था, इन तमाम समस्याओं से पार पाने का विचार बना ही रहे होंगे तब तक जनता ने अपने मताधिकार का प्रयोग करके भाजपा प्रत्यासी रामकुमार टोप्पो को रिकार्ड तोड़ मतों से जीत दर्ज करवा दिया और अपने आप को स्वयंभु समझने वाले पूर्व मंत्री को करारी हार से मुँह की खानी पड़ी.

अब मंत्री महोदय इन तमाम प्रकार के दुख तकलीफ को मिटाने के चक्कर मे पड़े ही थे की एक मुहावरा हैं की सर मुड़वाते ओला पड़ना वहीं वाली हार अमरजीत भगत की हो गई इधर तमाम दुःख तकलीफ पीछा नहीं छोड़ रही थी तभी आयकर की टीम ने तगड़ा छापा मार पूर्व खाद्य मंत्री का दिमाग़ घुमा दिया जिसके झटके से मंत्री को याद आया की वह एक गरीब आदमी हैं और IT की टीम उन्हें प्रताड़ित एवं परेशान कर रही हैं.

खैर ये तो बात हो गई पूर्व मंत्री की अब IT ने इन गरीब पूर्व मंत्री एवं इनके 13 चहेते लोगों पर अपना सिकंजा कस्ते हुए सरगुजा कलेक्टर को पत्र लिखते हुए इन 13 लोगों की संपत्ति का ब्यौरा माँगा हैं जिससे गरीब पूर्व मंत्री एवं उनके चहेतो की धड़कने तेज होना लाजमी हैं.

अमरजीत भगत के शासन सत्ता मे रहते हुए इनके कई खरीबियों पर सरकारी भूमि को भी बड़े आसानी से अपने नाम करवा कर बेचने का आरोप लगते रहा हैं इसी सब मामलो की छानबिन के लिए IT ने जानकारी कलेक्टर से चाही हैं की पिछले 5 वर्षो मे कितने जमीन की खरीदी बिक्री की गई.

Tags:
Aaj Ka Rashifal: मेष, वृषभ, मिथुन और कर्क राशि के लिए कुछ ऐसा रहेगा आज का दिन, जानें 9 फरवरी 2024 का राशिफल
अजय अग्रवाल होंगे जनसंपर्क संचालक, राज्य प्रशासनिक सेवा के कई अफसरों का हुआ तबादला, देखिये लिस्ट

ताजा खबर

जीवन शैली

खेल

गैजेट

देश दुनिया

You May Also Like