देश दुनिया

बढ़ सकती है HDFC, Axis, Yes Bank के ग्राहकों परेशानी, तुरंत जानें ये अपडेट

Views: 151

Share this article

नई दिल्ली: देश में ग्राहकों के हितों की लिए और बैंकिंग कामकाज ठीक से चले तो इसके लिए केंद्रीय बैंक समय-समय पर ऐसे जरूरी अपडेट लाती रहती है। तो वही अगर आप एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक और यस बैंक के ग्राहक है तो आपकी परेशानी पड़ सकती है। आपको बता दें कि 30 जून से क्रेडिट कार्ड पेमेंट पर से नए नियम लागू हो गए हैं। जिससे अभी ऐसी कई बैंक है। जिन्होंने अपने यहां पर अपने इस सिस्टम को अपनाया नहीं है।
जिससे अगर आप भी इन बैंकों के क्रेडिट कार्ड रखते हैं, तो आपको परेशानी में डाल सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट में बताया जा रहा है। कि देश के प्रमुख छह बैंकों ने अभी तक फोन पे और पेटीएम जैसे तीसरे थर्ड पार्टी के ऐप के माध्यम से होने वाले से क्रेडिट कार्ड बिल पेमेंट लेने के लिए अपने भारत बिल पेमेंट प्रणाली (BBPS) को एक्टिव नहीं किया है।
आप को याद दिला दें कि आरबीआई की डेट लाइन 30 जून तक थी जिसे आप इस सिस्टम को एक्टिवेट न करने पर ग्राहकों को बड़ी परेशानी हो सकती है।खबरों में बताया जा रहा हैं कि देश में कुल 12 बैंक पहले ही अपने बीबीपीएस को एक्टिव कर चुके हैं। जिसमें कोटक महिंद्रा बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, आईडीबीआई बैंक, एयू बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा बैंक, फेडरल बैंक, इंडसइंड बैंक, सारस्वत बैंक, एसबीआई और यूनियन बैंक है।
हालांकि अभी तक बैंक एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक, आईडीएफसी बैंक, इंडियन बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक और Yes बैंक ने भारत बिल पेमेंट प्रणाली (BBPS) को एक्टिव नहीं किया है। तो वही बताया जा रहा हैं कि इन बैंकों को और भी समय लग सकता है, जिससे भारतीय बैंक संघ (IBA) इस मामले पर आरबीआई के साथ संपर्क कर रहा है।
दरअसल आरबीआई का लक्ष्य पेमेंट ट्रेंड्स पर बेहतर विजिबिलिटी के लिए और और केंद्रीकृत पेमेंट प्रणाली के माध्यम से धोखाधड़ी वाले लेनदेन को ट्रैक करने में क्षमता में सुधार करना चाहता है, जिससे यहां पर भारत बिल पेमेंट प्रणाली के तरह लाने का काम कर रहा है।
Tags: , , ,
पतंजलि के 14 प्रोडक्ट्स की बिक्री पर बैन, मैन्युफैक्चरिंग लाइसेंस सस्पेंड,सुप्रीम कोर्ट को दी जानकारी
भीषण सड़क हादसा : यात्रियों से भरी डबल डेकर बस पलटी, 18 लोगों की मौत, कई घायल

ताजा खबर

जीवन शैली

खेल

गैजेट

देश दुनिया

You May Also Like