दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव : देवती कर्मा कांग्रेस की प्रत्याशी घोषित

जगदलपुर। दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव के लिए देवती कर्मा कांग्रेस की अधिकृत प्रत्याशी घोषित कर दी गयी हैं। छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया ने बताया कि पार्टी ने उनके नाम पर मुहर लगा दी है। नक्सलियों ने बीजेपी विधायक भीमा मंडावी की लोकसभा चुनाव से पूर्व 9 अप्रैल 2019 को हत्या कर दी थी, जिससे यह सीट खाली हो गई थी। इधर बागी कांग्रेसी रहे छविंद्र कर्मा, जो देवती कर्मा के बेटे हैं, के बोल बदले-बदले से हो गए हैं और अभी से ही माँ की जीत की शुभकामना वे देने लगे हैं ।

बताते चलें क‍ि देवती कर्मा दिवंगत कांग्रेस नेता एवं बस्तर टाईगर महेंद्र कर्मा की विधवा हैं। महेंद्र कर्मा की 2013 में झीरम घाटी में हुए नक्सली हमले में शहीद हो गए थे। तत्पश्चात 2013 विधानसभा में कांग्रेस ने देवती कर्मा को दंतेवाड़ा से प्रत्याशी बनाया था। कर्मा ने 2013 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के भीमा मंडावी को 59 हजार वोटों से हराया था। हालांकि 2018 के विधानसभा चुनाव में देवती कर्मा को हार का सामना करना पड़ा था। भाजपा के भीमा मंडावी ने उन्हें 2100 मतों से पराजित किया था। पराजय का प्रमुख कारण देवती कर्मा और उनके पुत्रों के मध्य विवाद प्रमुख बना था। किंतु इस दफा उनका समूचा परिवार उनकी जीत के लिए समर्पित नजर आ रहा है। इसीलिए कांग्रेस ने पुन: देवती कर्मा पर विश्वास जताते हुए उन्हें अपना प्रत्याशी बनाया है।

कर्मा परिवार से टिकट के लिए बीते विधानसभा चुनाव में स्व. कर्मा के पुत्र छविंद्र ने भी टिकट माँगी थी, तब टकराव कुछ ऐसा था कि छविंद्र को लेकर यह ख़बरें थी कि वे बागी चुनाव लड़ सकते हैं। लेकिन तत्कालीन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल और टीएस सिंहदेव के लगातार हस्तक्षेप के बाद छविंद्र कर्मा ने बागी रुख तो नहीं अपनाया लेकिन देवती कर्मा चुनाव हार गईं। इस बार फिर परिवार से दो नाम सामने आए, जिनमें एक नाम देवती कर्मा का था जबकि दूसरा नाम छविंद्र कर्मा का था। वहीं छविंद्र कर्मा ने अपनी मां को बधाई और जीत की अग्रिम शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मैं कांग्रेस का अनुशासित सिपाही हूं। कांग्रेस नेतृत्‍व जो निर्देश देगा वह मैं करूंगा। यदि मुझे दंतेवाड़ा व चित्रकोट में प्रचार की जिम्‍मेदारी भी मिलेगी तो मैं बखूबी निभाउंगा और कांग्रेस पार्टी को जीत दिलाउंगा। उल्‍लेखनीय है कि दंतेवाड़ा उपचुनाव के लिए 23 सितंबर को वोट डाले जाएंगे और 27 सितंबर को परिणाम घोषित किया जाएगा।