केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल की भर्ती परीक्षा में फर्जीवाड़ा, 32 गिरफ्तार

दुर्ग
केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल की भर्ती परीक्षा में फर्जीवाड़ा का मामला छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में सामने आया है। यहां परीक्षार्थी की जगह दूसरे ने लिखित परीक्षा दी, लेकिन फिजिकल टेस्ट के दौरान वे पकड़े गए हैं। दुर्ग में ऐसे 32 मामले सामने आए हैं। अब मामले में जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने मामले में जांच शुरू कर दी गई है।
मिली जानकारी के मुताबिक मामले का खुलासा तब हुआ जब लिखित परीक्षा के बाद बुधवार को फिजिकल टेस्ट के लिए जांच की गई। जांच में 32 लोग फर्जी पाए गए, जिनके खिलाफ सीआईएसएफ के अधिकारियों की शिकायत पर उतई थाने में धोखाधड़ी का अपराध पंजीबद्ध करते हुए गिरफ्तार कर लिया है। मामले में पूछताछ भी की जा रही है। जांच के बाद मामले से जुड़े और भी लोगों की गिरफ्तारियां की जा सकती हैं।
देश में एसएससी के माध्यम से सीआईएसएफ में भर्ती के लिए फरवरी और मार्च 2019 में लिखित परीक्षा आयोजित की गई थी, जिसके तहत भिलाई में आयोजित परीक्षा देने के लिए 32 ऐसे परीक्षार्थियों का चयन कर लिया गया, जिनकी जगह किसी दूसरे ने लिखित परीक्षा दी थी। इसके बाद अब फिजिकल टेस्ट लिया जा रहा है। इसी दौरान 32 लोग पकड़े गए हैं। पकड़े गए सभी आरोपी हरियाणा और राजस्थान के रहने वाले हैं। मिली जानकारी के अनुसार आरोपियों ने अपनी जगह दूसरों को लिखित परीक्षा में शामिल करने के लिए 75 हजार से डेढ़ लाख रुपए दिए थे। फिलहाल इस मामले की जांच की जा रही है, जिसमें और भी बड़े खुलासे हो सकते हैं। आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की जा रही है।