रायपुर। राज्य शासन द्वारा बहुप्रतीक्षित राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के शुभारंभ (Landless agricultural laborer justice scheme launched) के लिए राहुल गांधी को आधिकारिक आमंत्रण भेजा गया है। उनके दौरे की आधिकारिक पुष्टि अभी होना शेष है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chief Minister Bhupesh Baghel) के निर्देश पर राज्य शासन द्वारा दिनांक 3 फ़रवरी 2022 को राज्योत्सव स्थल, रायपुर से राजीव गांधी भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का शुभारंभ तथा नवा रायपुर में बनाए जा रहे ‘सेवाग्राम’ का भूमिपूजन कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इस अवसर पर राज्य सरकार द्वारा फ़रवरी के प्रथम सप्ताह में शासन की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए प्रदर्शनी का आयोजन भी किया जाना प्रस्तावित है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chief Minister Bhupesh Baghel) ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी से नई दिल्ली में मुलाक़ात की थी। इस दौरान भूपेश बघेल ने राहुल गांधी को अपने पुत्र के विवाह का आमंत्रण दिया था। छत्तीसगढ़ में राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना के शुभारंभ हेतु मुख्यमंत्री ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी ,प्रियंका गांधी सहित वरिष्ठ नेताओं को शुभारंभ कार्यक्रम में शामिल होने का न्योता दिया था। राहुल गांधी का छत्तीसगढ़ दौरा लगभग फाइनल हो गया है। अफसरों को तैयारी के निर्देश दे दिए गए हैं। राहुल गांधी 3 फरवरी को रायपुर आ सकते हैं। हालाकि उनके दौरे की आधिकारिक पुष्टि अभी होना शेष है।

राहुल गांधी का साइंस कॉलेज मैदान पर कार्यक्रम हो सकता है। वे राजीव गांधी भूमिहीन मजदूर न्याय योजना का उद्घाटन करने के साथ इस योजना की पहली किश्त हितग्राहियो के खाते में ट्रांसफर कर सकते हैं। कार्यक्रम स्थल पर विकास कार्यों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी। सूत्रों के मुताबिक ऊपर से निर्देश मिलने के बाद सीआईडीसी के अधिकारी राहुल गांधी के कार्यक्रम की तैयारी शुरू कर दिए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बेटे चैतन्य की शादी हो रही है। राहुल गांधी वर-वधु को आशीर्वाद देने जा सकते हैं।

हालांकि अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। मगर देर रात तक या कल सुबह तक उनका मिनट टू मिनट कार्यक्रम आ जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना के शुभारंभ अवसर पर सांसद एवं कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी, सांसद राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा एवं अन्य वरिष्ठ नेताओं को बतौर अतिथि छत्तीसगढ़ आने का आमंत्रण दिया था। योजना के तहत ग्रामीण भूमिहीन परिवारों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रतिवर्ष 6000 रुपए की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है। शुभारंभ के दिन प्रथम किस्त सीधे भूमिहीन परिवारों के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here