वास्तु शास्त्र(Vaastu Shaastra)के अनुसार कनेर का पौधा घर की तरक्की के लिए शुभ(good ) माना जाता है। कहा जाता है कि कनेर के पौधे में साक्षात भगवान(God ) रहते है। इस पौधे का दैवीय गुण घर में आपसी कलह(discord)को भी शांत करने में सहायक(help ) होता हैऔर साथ ही परिवार की आर्थिक स्थिति को भी सुदृढ़ करता है। ऐसे में वास्तु के मुताबिक जानते हैं कि कनेर का पौधा किस प्रकार वास्तु दोषों को दूर कर घर में सुख-शांति का माहौल कायम रखता है।कनेर(kaner ) में दो प्रकार के फूल होते है एक सफ़ेद और दूसरा पीला। शास्त्रों के मुताबिक सफेद फूल वाला कनेर का पौधा मां लक्ष्मी को बहुत ही पसंद है। इसी के साथ साथ यह भी माना जाता है कि पीले फूल वाला कनेर के पौधे पर साक्षात भगवान विष्णु का वास होता है।

घर के  वातावरण(climate ) को रखता है शांत(calm )

कनेर का पौधा घर के वातावरण(climate ) को शांत रखता है साथ ही सकारात्मकता, ऊर्जा को भी बरकरार रखता है। कनेर के पौधे को पूरब या पूरब-उत्तर के कोण में लगाने से घर में हमेशा मां लक्ष्मी(Maa Lakshmi ) का वास होता है। वहीं पीले फूल वाले कनेर के पौधे को घर में लगाने और इसकी फूलों से भगवान विष्णु की पूजा करने पर घर में खुशहाली(happiness ) आती है, धन -संपत्ति बढ़ती है।

इन बातों का रखे ध्यान(keep these things in mind)

 

1 – कनेर के फूल और बीज जहरीले होते हैं। इसलिए  इसे बच्चो से दूर रखे।
2 -कनेर के फूल और तने में भी जहर होते है ऐसी जगह लगाए जहा बच्चे न पहुंच सके।
3 -मन को शांति प्रदान करने वाला यह कनेर का पौधा होता है यदि घर के अंदर है तो आपको शांति प्रदान करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here