8.9 C
New York
Sunday, September 26, 2021
Home भिलाई अभिषेक मिश्रा हत्याकांड: आरोपी महिला प्रोफेसर को किया गया बरी, उसके पति...

अभिषेक मिश्रा हत्याकांड: आरोपी महिला प्रोफेसर को किया गया बरी, उसके पति और चाचा ससुर को अंतिम सांस तक आजीवन कारावास की सजा

छत्तीसगढ़ के भिलाई में हुए हाई प्रोफाइल अभिषेक मिश्रा हत्याकांड के फैसला आ गया है। यह फैसला ऑनलाइन सुनाया गया। सीनियर वकील राजकुमार तिवारी ने बताया कि हत्याकांड में शामिल किमसी जैन को बरी कर दिया गया है। जज ने किमसी को लेकर कहा कि परिस्थितिजन्य प्रकरण है और किमसी के खिलाफ परिस्थितियां प्रमाणित नहीं हुई है। आरोपी विकास जैन और अजीत सिंह को जीवन की अंतिम सांस तक आजीवन कारावास की सजा सुनायी गई है। दोनों आरोपियों पर अर्थदंड भी लगाया गया है। सत्र न्यायाधीश राजेश श्रीवास्तव ऑनलाइन यह फैसला सुनाया है।

नवंबर 2015 में अभिषेक मिश्रा की हत्या कर दी गई थी। 10 नवंबर 2015 की शाम शंकराचार्य इंजीनियरिंग कालेज के चेयरमैन IP मिश्रा के इकलौते बेटे अभिषेक मिश्रा का अपहरण हुआ था। किडनैपिंग की खबर ने पूरे प्रदेश में खलबली मचा दी थी। पुलिस ने भी इसे सुलझाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा दिया था। यही वजह थी कि पूरे देश के करीब एक करोड़ मोबाइल फोन की डिटेल खंगालने के बाद पुलिस की निगाह भिलाई में रहने वाले सेक्टर-10 निवासी विकास जैन के ऊपर आ टिक गई थी।

पुलिस हिरासत में किमसी का पति और चाचा ससुर।

पुलिस हिरासत में किमसी का पति और चाचा ससुर।

करीब 45 दिन बाद मिली थी लाश

एक तरफ पुलिस कॉल डिटेल को आधार बनाकर जांच शुरू कर चुकी थी, वहीं दूसरी ओर किडनैपिग की घटना के करीब 45 दिन बाद आरोपी विकास जैन के चाचा अजीत जैन के स्मृति नगर निवास के बगीचे में अभिषेक की सड़ी गली लाश बरामद हुई। आरोपियों ने बेहद ही शातिराना अंदाज में लाश को दफना कर ऊपर फूल गोभी की सब्जियां उगा दी थी। पुलिस ने लाश के पास हाथ का कड़ा, अंगूठी और लाॅकेट देखकर अभिषेक की लाश होने की पुष्टि की थी। लाश का DNA टेस्ट भी कराया गया था।

मामले में अभिषेक के काॅलेज में पढ़ाने वाली प्रोफेसर किमसी जैन, उसके पति विकास जैन और उसके चाचा अजीत को गिरफ्तार किया गया था। तीनों की गिरफ्तारी के बाद लगातार इस मामले की जांच की गई और जांच पूरी होने के बाद दुर्ग न्यायालय में चार्जशीट पेश की गई। करीब 5 साल (2016) से ये मामला दुर्ग जिला न्यायालय में चल रहा था।

क्या था मामला और क्यों की गई थी हत्या

पुलिस की जांच थ्योरी में आया था कि आरोपी किम्सी जैन, अभिषेक मिश्रा के कालेज में काम करती थी। इसी दौरान दोनों करीब आए थे। साल 2013 में किम्सी ने विकास जैन से शादी कर ली और कालेज की नौकरी को छोड़ दी। लेकिन अभिषेक चाहता था कि उनका रिश्ता कायम रहे। वह लगातार किम्सी पर इसके लिए दबाव डाल रहा था। परेशान किम्सी ने पूरी बात अपने पति विकास को बताई। पति के मन में बदला लेने की भावना आ गई। इसके बाद किम्सी, उसका पति विकास और किम्सी के चाचा अजीत सिंह ने हत्या की साजिश रची थी।

अभिषेक मिश्रा को किम्सी ने चौहान टाउन स्थित घर पर 9 नवंबर 2015 बुलाया। घर पहुंचने के बाद किम्सी और अभिषेक के बीच विवाद हुआ। पहले से मौजूद विकास और अजीत ने अभिषेक के सिर पर पीछे से रॉड से वार किया, जिससे वह वहीं कमरे में गिर गया। फिर अभिषेक को किम्सी के चाचा अजीत सिंह जो किराए पर स्मृति नगर भिलाई में रहता था। उसको वहां ले जाकर पहले से किए गए 6 फीट गहरे गड्ढे में ले जाकर दफना दिया था।

RELATED ARTICLES

बड़ी खबर – NEET की परीक्षा देने आई छात्रा की करंट लगने से तत्काल मौत…पढ़े पुरी खबर

भिलाई: से बड़ी खबर सामने आयी है. जहाँ नीट की परीक्षा देने धमतरी से आई छात्रा की करंट लगने से मौत...

नव विवाहिता ने लगाई बड़ी बहन के घर फांसी, 2 माह पूर्व हुई थी शादी

भिलाई। दुर्ग के भिलाई शहर से ख़ुदकुशी की खबर सामने आ रही है। यहाँ एक नवविवाहिता ने अपनी बड़ी बहन के घर...

Chhattisgarh: चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज का अधिग्रहण पूरा, राजपत्र में अधिग्रहण की अधिसूचना प्रकाशित, ओएसडी और अस्पताल अधीक्षक ने पोस्टिंग आदेश किया जारी

भिलाई। चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज का अधिग्रहण पूरा हो चुका है। ओएसडी और अस्पताल अधीक्षक ने पोस्टिंग का आदेश जारी कर दिया...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

राशिफल 26 सितंबर 2021: रविवार का दिन 5 राशियों के लिए रहेगा जबरदस्त, जानें अन्य का हाल

Horoscope Today 26 September 2021, Aaj Ka Rashifal, Daily horoscope: पंचांग के अनुसार 26 सितंबर 2021, रविवार को आश्विन मास की कृष्ण पक्ष...

Aaj Ka Panchang: पंचांग 26 सितंबर 2021, जानें शुभ मुहूर्त, राहु काल और ग्रह-नक्षत्र की चाल

पंचांग 26 सितम्बर 2021, रविवार विक्रम संवत - 2078, आनन्दशक सम्वत - 1943, प्लवपूर्णिमांत - आश्विनअमांत - भाद्रपद हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, आश्विन कृष्ण पक्ष...

, आयकर विभाग की बड़ी कार्रवाई…8900 कैरेट के बेहिसाबी हीरों का चला पता…छापेमारी के दौरान 1.95 करोड़ रुपए नगदी और आभूषण जप्त

नई दिल्ली।  आयकर विभाग ने गुजरात के एक प्रमुख हीरा कारोबारी के यहां छापेमारी कर न सिर्फ 10.98 करोड़ रुपये मूल्य के 8900...

बड़ी खबर – छत्तीसगढ़ में शिक्षक भर्ती मामला, 2300 शिक्षकों की नियुक्ति का रास्ता साफ, हाइकोर्ट ने हटाई रोक

बिलासपुर – शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर दायर याचिका के मामले में चयनित प्रतियोगियों की हस्तक्षेप याचिका पर हाईकोर्ट में आज शुक्रवार...

Recent Comments

error: Content is protected !!