सत्र के तीसरे दिन 505 करोड़ का अनुपूरक बजट हुआ पास

0
80

रायपुर: बजट सत्र के तीसरे दिन छत्तीसगढ़ विधानसभा से तीसरा अनुपूरक बजट पास हो गया है. सीएम ने 505 करोड़ का तीसरा अनुपूरक बजट पेश किया था. इस पर चर्चा के दौरान सबसे ज्यादा टाइपिंग मिस्टेक पर सत्ता पक्ष और विपक्ष में बहस हुई. जिस पर सीएम ने विपक्ष को रमन शासन काल के पुराने मामले याद दिलाए. जिसमें टाइपिंग मिस्टेक होते थे. सीएम ने ऋण लेने के मामले में भी विपक्ष को जवाब दिया. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने रमन शासन काल के कुल बजट का महज 18 फीसदी ऋण लिया है.

चर्चा के दौरान सीएम लगातार विपक्ष पर हमलावर रहे. सीएम ने बीजेपी को कहा के झूठ बोलने में आप लोगों का हाथ नहीं है. इसके बाद सीएम ने कहा कि बीजेपी ने प्रजातंत्र को लूटने का बाजार बना दिया है. सीएम ने केंद्र सरकार पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी सरकार उनके साथ भेदभाव कर रही है. उन्हें लगातार कम राशि दी जा रही है. एनडीए सरकार बनने की वजह से उन्हें करीब 14 हजार करोड़ की राशि कम मिली है. अनुपूरक बजट पर चर्चा के दौरान सीएम भूपेश बघेल ने ऐलान किया कि वित्तीय वर्ष खत्म होने से पहले राजीव गांधी किसान न्याय योजना की राशि की अगली किस्त देंगे.

छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र में तीसरे दिन प्रश्नकाल में हंगामा बरपा. विपक्ष ने शराब बिक्री से मिली 5.25 करोड़ की राशि सरकारी खजाने में जमा नहीं होने पर सवाल उठाए.विपक्ष ने महिला उत्पीड़न और रेप की घटनाओं को लेकर काम रोको प्रस्ताव लाया. महिला सुरक्षा के मसले पर विपक्ष ने सरकार से जवाब मांगा. चावल से एथेनॉल बनाने के लिए उद्योगों के साथ हुए MoU का मुद्दा भी सदन में गूंजा. वहीं बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर और कांग्रेस के विधायक बृहस्पति सिंह के बीच तीखी नोकझोंक भी देखने को मिली.