आत्महत्या के लिए उकसाने वाले घूम रहे खुलेआम, पुलिस का मिल रहा संरक्षण

0
49

बिलासपुर। युवक को आत्महत्या करने के लिए उकसाने वाले पिता व चचेरे भाई खुलेआम घूम रहे हैं। अपराध दर्ज करने के बाद भी पुलिस आरोपित को नही पकड़ पा रही है। स्थिति यह है कि आरोपित शहर में खुलेआम घूम रहे हैं।

सरकंडा के बंधवापारा निवासी विक्रम सिंह (25 वर्ष) अपनी मां मिथला ठाकुर के साथ किराए के मकान में रहते थे। बीते 10 अगस्त को विक्रम ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही थी। जांच में पता चला कि मृतक के पिता कृष्णकुमार सिंह ने उसकी मां और बच्चों को छोड़ दिया था। पुलिस ने मृतक की मां के बयान में प्रताड़ना की बात सामने आई।

पिता से अलग रह रहे विक्रम ने अपने बंटवारे की मांग की थी। इस पर पिता कृष्णकुमार ने विक्रम को जान से मारने की धमकी देकर हिस्सा देने से मना कर दिया था। साथ ही वह आए दिन गाली-गलौज करता था। इसमें विक्रम का चचेरा भाई भवानी सिंह भी साथ देता था।
लगातार भाई और पिता की प्रताड़ना से तंग आकर विक्रम ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जांच के बाद पुलिस ने मृतक के पिता कृष्णकुमार और चचेरे भाई भवानी सिंह के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का अपराध दर्ज कर लिया। लेकिन, अब तक आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं की गई है। वहीं अपराध दर्ज होने के बाद भी आरोपित शहर में खुलेआम घूम रहे हैं।

जांच के दौरान मृतक विक्रम की मां मिथला ने अपने पति के खिलाफ गवाही दी है। इसी तरह कई अन्य लोगों ने भी बयान दिया है। इसके आधार पर पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ अपराध दर्ज किया है। जुर्म दर्ज होने के बाद आरोपित कृष्णकुमार व परिवार के सदस्य मिलकर मृतक की मां मिथला व अन्य गवाहों को बयान बदलने के लिए धमकी दे रहे हैं।