8.9 C
New York
Monday, December 6, 2021
Home देश दिल्ली औरंगाबाद का नाम बदलकर संभाजीनगर करना चाहती है शिवसेना, कांग्रेस ने किया...

औरंगाबाद का नाम बदलकर संभाजीनगर करना चाहती है शिवसेना, कांग्रेस ने किया विरोध तो बोली- फिर से इतिहास पढ़े सेक्यूलर पार्टी

मुंबई। औरंगाबाद का नाम बदलकर संभाजीनगर करने के प्रस्ताव पर विवाद खड़ा हो गया है। महाराष्ट्र में साथ-साथ सरकार चला रही शिवसेना ने अपने सहयोगी कांग्रेस पार्टी पर कटाक्ष किया है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में कांग्रेस के धर्मनिरपेक्ष होने और नाम परिवर्तन का विरोध करने के लिए हमला किया है। “सामना” के एक संपादकीय में कहा गया है कि औरंगाबाद का नाम बदलने से धर्मनिरपेक्ष दलों के वोट बैंक पर असर पड़ सकता है, क्योंकि नाम बदलने से मुस्लिम समाज नाराज होगा।

संपादकीय में लिखा गया है, “भारत का संविधान धर्मनिरपेक्ष था। औरंगजेब को अन्य धर्मों से सख्त नफरत थी। उसने सिखों और हिंदुओं पर अत्याचार किया। हमें उनके अवशेषों पर ध्यान क्यों देना चाहिए? औरंगजेब कौन था? कम से कम महाराष्ट्र को यह समझाने की जरूरत नहीं है। इसलिए एक सच्चे मराठी और कट्टर हिंदू व्यक्ति को औरंगज़ेब से लगाव होने का कोई कारण नहीं है।”

आगे लिखा है, “औरंगाबाद का नाम बदलकर संभाजीनगर करने को लेकर एक राजनीतिक विवाद छिड़ गया है। कांग्रेस जैसी सेक्युलर पार्टियां औरंगाबाद को संभाजीनगर का नाम देने के पक्ष में नहीं हैं। औरंगाबाद का नाम बदलने से मुस्लिम समाज नाराज हो जाएगा।यानी, अल्पसंख्यकों का उनका वोट बैंक प्रभावित होगा। इसका अर्थ यह है कि उनकी धर्मनिरपेक्ष छवि पर सवाल उठाया जाएगा।”

महा विकास अगाड़ी (एमवीए) सरकार जिसमें शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा), और कांग्रेस शामिल हैं, ने नवंबर 2020 में एक साल का कार्यकाल पूरा किया था। आपको बता दें कि चुनाव परिणाम सामने आने के बाद शिवसेना, भाजपा नीत एनडीए से बाहर हो गई।

संपादकीय में आगे कहा गया है कि महाराष्ट्र में ऐसे लोगों का एक बड़ा वर्ग है जो नाम बदलने के पक्ष में हैं। आगे लिखा है, “क्या औरंगाबाद का नामकरण लोगों के विकास की समस्या को हल करता है? नाम बदलने का विरोध करने वाले इस तरह के मुद्दे को उठा रहे हैं। हालांकि, कम से कम महाराष्ट्र में औरंगजेब का कोई निशान नहीं रखा जाना चाहिए। लोगों का एक बड़ा वर्ग है, जो इसके पक्ष में हैं। औरंगज़ेब के आदेश पर, महाराष्ट्र के राजा संभाजी को मुगल सरदारों द्वारा प्रताड़ित और मार डाला गया और उनके शव को पुणे के पास सड़क पर फेंक दिया गया।” शिवसेना ने महाराष्ट्र के नेताओं से औरंगज़ेब के इतिहास को फिर से पढ़ने के लिए कहा।

आदित्य ठाकरे ने एक कार्यक्रम में कहा, ‘हिंदू हृदयसम्राट शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे का संभाजीनगर सबसे पसंदीदा शहर रहा है, इसलिए राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार संभाजीनगर पर निर्णय एकमत से लेगी। शिवसेनाप्रमुख बालासाहेब ठाकरे ने जो सपना महाराष्ट्र को लेकर देखा है, वह हम पूरा करेंगे।’

RELATED ARTICLES

सुरक्षाबलों की फायरिंग में 13 नागरिकों की मौत से बवाल, जवानों की गाड़ियां फूंकी; अमित शाह बोले- SIT करेगी जांच

नई दिल्ली। भारत के पूर्वोत्तर राज्य नगालैंड के मोन जिले में शनिवार की शाम को सुरक्षाबलों द्वारा कथित रूप से की गई...

अवध और बुंदेलखंड में किसके सिर बंधेगा जीत का सहेरा? दो पार्टियों में मुकाबला, कोई और नहीं रेस में

नई दिल्ली। कुछ माह बाद उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में सभी दल अभी से ही अपनी जमीन तलाशने...

उत्तरप्रदेश की जनता ने योगी सरकार को हटाने का मन बना लिया है- CM बघेल

नई दिल्ली।  नई दिल्ली में आयोजित लीडरशिप समिट में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यूपी चुनाव, कृषि कानून के मुद्दे पर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

BIG NEWS : पांच बेटियों के साथ कुए में कूदी महिला, सभी की हुई मौत, गांव में पसरा मातम, जताई जा रही यह आशंका

कोटा। राजस्थान के कोटा जिले से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आ रही है। यहाँ काल्याखेडी गांव की एक महिला अपनी...

छत्तीसगढ़ के नवा रायपुर में 27 जनवरी से होगा ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट, अमेजॉन, ओला इलेक्ट्रिक समेत इन कंपनियों ने दिखाई रूचि

रायपुर। नए साल में 27 से 31 जनवरी 2022 तक नवा रायपुर के व्यापार मेला मैदान में होने वाले ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट ‘इन्वेस्टगढ़...

छत्तीसगढ़ के नाम एक और पुरस्कार, मोस्ट इंप्रुव्हड स्टेट इन इनवायरमेंट केटेगरी में आया प्रथम, इंडिया टुडे के सीनियर एसोसिएट एडीटर के हाथो CM...

रायपुर। इंडिया टुडे स्टेट ऑफ स्टेट्स 2021 कान्क्लेव में मोस्ट इंप्रुव्हड स्टेट इन इनवायरमेंट केटेगरी में छत्तीसगढ़ को प्रथम पुरस्कार से नवाजा गया...

BIG BREAKING : सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने एंकर के पद से दिया इस्तीफा, सभापति वेंकैया नायडू को लिखा पत्र, नाराजगी की बताई यह वजह

शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने रविवार को संसद टीवी के एक शो के एंकर के पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने...

Recent Comments

error: Content is protected !!