बैठक में कलेक्टर का सख्त निर्देश, कहा गुणवत्तापूर्ण शिक्षा शिक्षकों का हो लक्ष्य…

0
79

Surguja samay/ सूरजपुर। कलेक्टर रणबीर शर्मा ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में स्कूल शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक ली। जिसमें जिला षिक्षा अधिकारी, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग, समस्त विकासखंड षिक्षा अधिकारी, सहायक विकासखंड षिक्षा अधिकारी, संकुल समन्वयक व अन्य षिक्षा विभाग के अधिकारी मौजुद थे।
कलेक्टर रणबीर शर्मा ने जिले में संचालित पोस्ट मैट्रिक छात्रावास की जानकारी लेते हुए प्रवेशित छात्रों की संख्या, छात्रावास की व्यवस्थाओं सहित छात्रवृत्ति के संबंध में जानकारी ली। जिसपर सहायक आयुक्त ने जिले में संचालित प्री मैट्रिक व पोस्ट मैट्रिक छात्रावासों में प्रवेशित छात्रों एवं व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी। कलेक्टर ने सभी छात्रावासी बच्चों को किसी तरह की परेषानी न हो इसके लिए छात्रावास के सभी अधीक्षकों को संवेदनशील होकर कार्य करने के निर्देष दियें हैं। जो छात्र अनुसूचित जाति व जनजाति के हैं उन्हें उचित षिक्षा प्रदाय कर प्रोत्साहित करने तथा आवष्यक मॉनिटरिंग करने कहा है।

इसके साथ ही कलेक्टर ने जोर देते हुए कहा कि वर्तमान में कोविड-19 के संक्रमण के कारण स्कूलों को बंद रखा गया है, जिसमें जिले के षिक्षकों के द्वारा ऑनलाईन पढ़ाई जारी रखी गई है, जिससे सभी छात्र लाभांवित हो इसे सुनिष्चित किया जाना है। उन्होनें जिला षिक्षा अधिकारी से सीजी स्कूल डॉट इन में शिक्षक की इन्ट्री जानकारी, ऑनलाईन कक्षा की प्रगति, पढ़ई तुंहर पारा की प्रगति, इन्सपायर अवार्ड, निःषुल्क सायकल वितरण की जानकारी, निःषुल्क गणवेष वितरण, पाठ्यपुस्तक का वितरण, लम्बित पेंषन प्रकरण, एकल शिक्षकीय विद्यालय, छात्रवृत्ति लम्बित भुगतान, 01 नवम्बर 2020 की स्थिति में संविलियन किये जाने हेतु शिक्षकों की जानकारी लेते हुए वर्तमान में संचालित स्कूल की अन्य गतिविधियों के बारे में जानकारी ली। जिला षिक्षा अधिकारी के द्वारा बिन्दुवार जानकारी दी गई। कलेक्टर शर्मा ने जिले में शिक्षा के स्तर एवं गुणवत्ता की बढ़ोत्तरी के लिए, उचित स्कूल प्रबंधन, बच्चों के सर्वागीण विकास हेतु अन्य गतिविधियों को दुरूस्त करने के निर्देष दिये हैं। साथ ही जिले के षिक्षकों को षिक्षण कार्य के लिए समय का ध्यान रखने एवं गुणवत्ता युक्त शिक्षा बच्चों को प्रदाय करने कहा है। पेंषन प्रकरणों की जानकारी लेते हुए लंबित प्रकरणों को त्वरित निराकरण करने हेतु जिला षिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया है।