लापरवाही ने छात्रा की ले ली जान : नीट में 6 अंक मिलने पर छात्रा ने किया सुसाइ़़ड, ओएमआर शीट जांच कराई तो मिले इतने अंक

0
609

छिंदवाड़ा। कम्प्यूटर की गलती कहें या उस इंसान की जिसने नीट परीक्षा के रिजेल्ट को अपलोड किया. नीट परीक्षा के जारी रिजल्ट ने एक छात्रा को इतना झंकझोर दिया की उसने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. छात्रा ने लिस्ट में अपने नाम के सामने महज 6 अंक देखें जिसके बाद उसने ऐसा कदम उठाया.

बता दें कि परिवार को इस रिजल्ट पर विश्वास नहीं था जिसके बाद उन्होंने ओएमआर शीट ओपन कराई जिसमें छात्रा को 590 अंक मिले थे.

विधि सूर्यवंशी डॉक्टर बनकर पीड़ितों की सेवा करना चाहती थी. नीट के लिए दिनरात कड़ी मेहनत की कोरोना वायरस के बीच उत्साह से परीक्षा दी. हाल ही में जब रिजल्ट आया तो नेट पर अपलोड लिस्ट में उसके नाम के आगे महज छह अंक दर्शाए गए जिससे उसे मानसिक रूप से पूरा तोड़ दिया.

छात्रा की तरह उसके परिवार के लोगों को बिल्कुल भरोसा नहीं हुआ परिजनों ने जब ओएमआर शीट ओपन कराई तो उसमे छात्रा को 590 अंक मिले थे. इसके बावजूद पूरी तरह से टूट चुकी होनहार छात्रा ने ऐसा कदम उठा लिया जो नहीं उठाया जाना था.

परासिया की मैग्जीन लाइन निवासी गजेंद्र सूर्यवंशी की 18 वर्षीय बेटी का शव मंगलवार सुबह उसके कमरे में फांसी पर लटका मिला. सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और पंचनामा कर शव का पोस्टमार्टम कराया दोपहर को स्थानीय में अंत्येष्टि की गई.