लाहौर लिटरेचर फेस्टिवल में शशि थरूर ने भारत का उड़ाया मजाक

नई दिल्ली
लाहौर लिटरेचर फेस्टिवल में कांग्रेस सांसद शशि थरूर के वर्चुअल संबोधन पर देश में हंगामा मच गया है। शशि थरूर ने पाकिस्तान के मंच से भारत को कोरोना वायरस से लड़ाई में फेल बताया तो भाजपा ने इसे देश को बदनाम करने की कोशिश करार दे दिया। भाजपा ने तंज कसते हुए कहा, भारत से शशि थरूर इमरान खान की रैली को संबोधित कर रहे हैं। यहां पर अनुच्छेद 370 फिर से आ जाए जो इमरान खान चाहते हैं वही पी. चिदंबरम कह रहे हैं। आखिर ये क्या हो रहा है?


भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने पार्टी मुख्यालय पर प्रेस कांफ्रेंस करके कहा, शशि थरूर ने भारत का मजाक उड़ाया है, भारत को एक खराब परि²ष्य में दिखाने की कोशिश की है। शशि थरूर कहते हैं कि भारत की सरकार कोरोना वायरस (कोविड-19) के मैनेजमेंट में कहीं-कहीं फेल हो रही है। भारत की मीडिया पोल के जरिए दिखा रही है कि जनता-जनार्दन मोदी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से संतुष्ट है। संबित पात्रा ने कहा, कोरोना वायरस (कोविड-19) को लेकर पूरा विश्व देख रहा है कि भारत को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किस प्रकार से सुरक्षित रखा, समय से लॉकडाउन हुआ, किस प्रकार 80 करोड़ लोगों को खाद्यान्न पहुंचाने का काम किया गया जो आगे छठ पूजा तक चलता रहेगा। संबित पात्रा ने कहा, 50 देशों को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन पहुंचाने का काम मोदी सरकार ने किया। इन सभी के बावजूद इस प्रकार का स्टेटमेंट देना कि भारत सरकार फेल हो गया है, वह भी लाहौर में। आप सोचिए कि किस प्रकार की मन:स्थिति कांग्रेस और राहुल गांधी के मित्र शशि थरूर की है?


पात्रा ने कहा, सोनिया गांधी, राहुल, प्रियंका और शशि थरूर से हम पूछना चाहते हैं कि एक बार भी आपने पाकिस्तान से पूछने की हिम्मत की कि पाकिस्तान किस प्रकार से कट्टरता दिखाता है, किस प्रकार से अपने अल्पसंख्यकों के प्रति हिंसा और अराजकता दिखाता है।