हाथरस कांड में नया मोड़, चश्मदीद होने का दावा करने वाले छोटू को पीड़ित परिवार ने पहचानने से किया इनकार….

0
102
file photo- hathras

हाथरस- चंदपा क्षेत्र की बिटिया के प्रकरण में सीबीआई की टीम द्वारा लगातार पूछताछ और छानबीन जारी है। शनिवार को सीबीआई की टीम फिर बिटिया के गांव पहुंची। वहां सीबीआई ने पहले कुछ देर के लिए घटनास्थल का निरीक्षण किया और उसके बाद बिटिया के परिवार वालों से साढ़े पांच घंटे तक पूछताछ की। 
 

बिटिया के गांव पहुंची सीबीआई की टीम में इस मामले की जांच कर रहीं डिप्टी एसपी सीमा पाहुजा भी शामिल थीं। टीम ने सबसे पहले गांव के बाहर उस खेत को देखा, जहां घटना हुई थी। चंद मिनट वहां रुकने के बाद टीम बिटिया के घर पहुंच गई। टीम ने पहले तो घर में मौजूद सभी सदस्यों से बातचीत और पूछताछ की। 

वहीं, जिस छोटू को घटना का चश्मदीद गवाह बताया जा रहा है, उसको बिटिया के परिजनों ने पहचानने से इनकार कर दिया है। पूछताछ के बाद जब सीबीआई की टीम बिटिया घर से चली गई तो बिटिया की भाभी का कहना था कि सीबीआई की टीम उन्हें इस युवक का फोटो मोबाइल फोन पर दिखा रही थी, लेकिन वह इसे नहीं जानती।

बिटिया के परिवार वालों से सीबीआई ने काफी सवाल पूछे। परिवार वालों की मानें तो सीबीआई ने उनसे बिटिया के व्यवहार के बारे में पूछा। उसकी भाभी से यह भी पूछा कि क्या वह अलग फोन इस्तेमाल करती हैं तो भाभी ने यही जवाब दिया कि उनके घर में एक ही फोन नंबर है, जोकि उनके पति पर रहता है।

इसके अलावा सीबीआई ने घटना से संबंधित अन्य सवाल भी पूछे। बिटिया की मां से सीबीआई ने काफी देर तक पूछताछ की। वैसे भी भाभी मौके पर मौजूद नहीं थीं। छोटू का फोटो जब बिटिया की भाभी को दिखाया गया तो उसने यह बताया कि यह फोटो वह पहली बार देख रही हैं। परिजनों ने बताया कि सीबीआई की पूछताछ में उन्होंने कोई दबाव महसूस नहीं किया। परिजनों ने बताया कि बिटिया के कुछ कपड़े भी टीम साथ ले गई है।