प्रदेश सरकार किसानों के धान को 2500 रू. के भाव पर खरीद रही है तो मोदी सरकार को आपत्ति है: सुनील सिंह

0
65

View Post

सरगुजा समय। बलरामपुर। जिला कांग्रेस के प्रवक्ता सुनील सिंह ने केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि विधेयक को लेकर भाजपा सांसद से सवाल किया? भाजपा सांसद बताएं कि कहां के व्यवसायी प्रदेश के किसानों से केंद्र द्वारा घोषित समर्थन मूल्य या इससे अधिक मूल्य पर धान खरीदने के लिए तैयार हैं? ताकि, प्रदेश के किसान कृषि विधेयक पर भरोसा कर सकें?
मैदानी सच ये है कि पूरे देश में कृषि विधेयक का विरोध हो रहा है। कृषि विधेयक के विरोध में किसान हस्ताक्षर अभियान में बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं।
प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार छत्तीसगढ़ में किसानों के धान को समर्थन मूल्य 1815 रुपए के भाव से अधिक 2500 रुपए के दर पर खरीद रही है जिस पर मोदी सरकार को आपत्ति है ऐसे में किसान कैसे नए कृषि बिल पर विश्वास करें कि उनकी उपज का दाम समर्थन मूल्य या समर्थन मूल्य से अधिक मिलेंगे और उस पर मोदी भाजपा की सरकार को आपत्ति नहीं होगी?
आज तक भाजपा का कोई भी केंद्रीय नेता नहीं बता पाया है कि कृषि विधेयक से किसानों को कितना फायदा होगा? केंद्रीय भाजपा नेता एवं सांसद सिर्फ इतना बता दें कि केंद्र द्वारा घोषित समर्थन मूल्य से अधिक कीमत पर धान खरीदने के लिए कहां के व्यवसायी तैयार हैं? खुद को कृषक हितैषी होने के दावे करते हुए गोलमोल भाषा में बातें कर किसानों को गुमराह न करें।
जिला कांग्रेस के प्रवक्ता सुनील सिंह ने कहा कि भाजपा ने 15 साल के शासनकाल में छत्तीसगढ़ में किसानों से 2100 रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदी का वादा किया और मुकर गए। किसानों को पांच साल तक 300 रुपए प्रति क्विंटल की दर से बोनस देने का वादा किया और मुकर गये। सत्ता में आने के बाद बोनस की रकम भी हजम कर ली। लगातार किसानों से छल करते रहे भाजपा नेता आज किस मुंह से कृषक हितैषी होने का दावा कर रहे हैं?
जिला कांग्रेस के प्रवक्ता सुनील सिंह ने कहा कि भाजपा सांसद कांग्रेस पर कृषि विधेयक को लेकर झूठ और भ्रम फैलाने के आरोप लगा रहे हैं। सच ये है कि भाजपा ने 15 साल के शासनकाल में किसानों से किये गए वादे कभी पूरे नहीं किये। कांग्रेस पार्टी ने 2500 रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदी और किसानों की कर्ज माफी का वादा किया था। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पद की शपथ लेने के बाद चंद घंटे में ही किसानों से किये गए वादों को पूरा कर दिखाया। कांग्रेस पार्टी के नेता आम जनता से जो वादे करते हैं, उसे पूरा भी करते हैं।
जिला कांग्रेस के प्रवक्ता सुनील सिंह ने कहा कि किसानों, मजदूरों समेत देशवासियों से वादाखिलाफी करना भाजपा का काम है। भाजपा नेता बताएं कि हर साल दो करोड़ लोगों को रोजगार देने का वादा पूरा क्यों नहीं हुआ? कोरोना संकट काल में आम आदमी को राहत देने के लिए 20 लाख करोड़ रुपए के पैकेज से रकम क्यों नहीं मिली? किसानों की आय दोगुनी क्यों नहीं हो पाई?
हरेक भारतीय के खाते में 15 लाख रुपए जमा क्यों नहीं हुए?
जिला कांग्रेस के प्रवक्ता सुनील सिंह ने कहा कि भाजपा नेता आरोप लगाते है कि प्रदेश में सिर्फ एक व्यक्ति का राज है।अगर उन्हें भूपेश सरकार के कामकाज की समझ होती तो उन्हें पता चलता कि पूरे प्रदेश में सभी मंत्री अपने-अपने दायित्व निभा रहे हैं। सच्चाई यह है कि पूरे देश में एक व्यक्ति का राज चल रहा है। आम जनता की बात छोड़िये, खुद भाजपा नेताओं और सांसदों को भी केंद्र सरकार के मंत्रियों के नाम और मंत्रालय तक याद नहीं हैं। उसी इकलौते व्यक्ति के कहने पर व्यापार-उद्योग में भी एकाधिकार वाली कंपनियों को बढ़ावा देने वाली नीतियां तय हो रही है।भाजपा नेता केंद्र सरकार में व्याप्त एक व्यक्ति के राजकाज की व्यवस्था की खामी को प्रदेश सरकार पर मढ़ने का प्रयास न करे।
केंद्र सरकार की नीतियों के चलते खेती किसानी और उससे जुड़े हुए सभी कारोबार पूरी तरह से चैपट होने जा रहे हैं उसे लेकर किसान पूरी तरह से परेशान है, व्यापारी वर्ग का भी एक तबका केंद्र के वर्तमान कानूनों से नाखुश दिखाई दे रहा है क्योंकि इस कानून से छोटे कारोबारियों को भी भारी नुकसान होगा ऐसी आशंका जताई जा रही है ऐसे में सिर्फ बड़ी बात बात तो और झूठे वादों से काम कैसे चलेगा यह विचारणीय है।
किसानों का धान खरीदने के लिए जहां राज्य सरकार ने किसानों के पंजीयन की तिथि 31 अक्टूबर तक कर दी है वहीं केंद्र सरकार की नीतियों से किसानों के सामने समस्याओं का अंबार लगा हुआ है।