कालीन भैया बनने से पहले इन पांच रोल्स में दमदार अदाकारी दिखा चुके हैं पंकज त्रिपाठी

0
20

23 अक्टूबर से एक बार फिर पंकज त्रिपाठी कालीन भैया बनकर वेब सीरीज की दुनिया में कोहराम मचाने आ रहे हैं. पंकज को मिर्जापुर में निभाए इस किरदार से जो पहचान मिली, वह उन्हें बुलंदियों पर ले गई. इस रोल के दम पर उन्होंने एक्टिंग की दुनिया में वो सिक्का जमाया जो काबिलेतारीफ है. हालांकि, पंकज ने अपने सफल फ़िल्मी करियर में और भी कई दमदार रोल किए हैं लेकिन दिलचस्प बात ये है कि उनके पिता ने उनकी कोई भी फिल्म नहीं देखी है. इस बात का खुलासा पंकज ने एक इंटरव्यू में किया है. बहरहाल, आइए एक नजर डालते हैं पंकज द्वारा निभाए गए बेहतरीन किरदारों पर…

कालीन भैया बनने से पहले इन पांच रोल्स में दमदार अदाकारी दिखा चुके हैं पंकज त्रिपाठी

1) गैंग्स ऑफ वासेपुर में सुल्तान कुरैशी: गैंग्स ऑफ़ वासेपुर एक ऐसी फिल्म थी जिसने कई प्रतिभावान लेकिन अंडररेटेड एक्टर्स को रातों रात स्टार बना दिया. पंकज त्रिपाठी भी इनमें से एक थे. फिल्म में उनके द्वारा निभाया गया सुल्तान कुरैशी का किरदार छोटा लेकिन बेहद असरदार था. इस फिल्म से पहले पंकज को कोई नहीं जानता था लेकिन जब सुल्तान कुरैशी बंकर पर्दे पर उतरे तो दर्शक उनके फैन हो गए.

कालीन भैया बनने से पहले इन पांच रोल्स में दमदार अदाकारी दिखा चुके हैं पंकज त्रिपाठी

2) गुडगांव में कहरी सिंह: शंकर रमन की थ्रिलर गुडगांव में पंकज टाइकून कहरी सिंह के रोल में नजर आए थे. फिल्म की कहानी एक परिवार पर थी जिसमें पंकज उसके मुखिया के रोल में थे. फिल्म में उन्होंने कम बोलकर भी अपने किरदार को इतने बेहतरीन तरीके से जिया कि दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए.

कालीन भैया बनने से पहले इन पांच रोल्स में दमदार अदाकारी दिखा चुके हैं पंकज त्रिपाठी

3) मसान में साफ्या जी इस फिल्म को केवल विकी कौशल, ऋचा चड्ढा, श्वेता त्रिपाठी ने ही खास नहीं बनाया था, बल्कि पंकज त्रिपाठी भी थे जिनकी वजह से फिल्म कान्स फिल्म फेस्टिवल में स्टेंडिंग ओवेशन पाने में कामयाब रही थी. पंकज ने इसमें ऋचा चड्ढा के को-वर्कर साफ्या जी का किरदार निभाया था जो कि बेहद सरल इंसान रहता है.

कालीन भैया बनने से पहले इन पांच रोल्स में दमदार अदाकारी दिखा चुके हैं पंकज त्रिपाठी

4) न्यूटन में आत्मा सिंह न्यूटन ऑस्कर के लिए ऑफिशियल एंट्री थी. यह फिल्म सरकार और नक्सलवादियों के बीच के वैचारिक मतभेदों पर आधारित थी. फिल्म की कहानी न्यूटन कुमार की थी जो कि एक सरकारी कर्मचारी रहता है और नक्सल प्रभावित इलाकों में चुनाव करवाने जाता है. पंकज ने फिल्म में असिस्टेंट कमांडेंट की भूमिका अदा की थी जिसका काम सुरक्षित वोटिंग करवाना था.

कालीन भैया बनने से पहले इन पांच रोल्स में दमदार अदाकारी दिखा चुके हैं पंकज त्रिपाठी

5) गुंजन सक्सेना में अनूप सक्सेना यूं तो पंकज अभी केवल 45 साल के हैं लेकिन पर्दे पर पिता की भूमिका में भी फिट बैठते हैं. फिल्म गुंजन सक्सेना में उनके द्वारा निभाया गया जान्हवी कपूर के पिता अनूप सक्सेना का किरदार भी प्रभावशाली रहा. वह अपने बेटे और बेटी में फर्क करते नहीं दिखते. साथ ही बेटी के सपनों को हकीकत में बदलने में भी उसकी मदद करते दिखते हैं.