दोस्तों ने ही इस कारण से कर दी थी हत्या, 5 आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे…

0
115

धमतरी। सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत हुए 1 साल पुराने अंधे कत्ल का खुलासा करते हुए शुक्रवार को 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। बता दें कि इस अंधे कत्ल मामले को सुलझाने में प्रमुख योगदान कोतवाली में पदस्थ हुए नए टीआई नवनीत पाटिल का रहा है। दरअसल वर्ष 2019 को धमतरी के रुद्री रोड स्थित एक अज्ञात व्यक्ति नाले में गिरा हुआ मिलने से आसपास के लोग उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल धमतरी लेकर गए। अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। इस संबंध में थाना कोतवाली जिला धमतरी में मर्ग कायम कर जांच के दौरान पंचनामा एवं पोस्टमार्टम कराया गया। उसकी शिनाख्त गोविंद यादव निवासी पोटियाडीह थाना अर्जुनी जिला धमतरी के रूप में हुई। मृतक गोविंद यादव के पोस्टमार्टम रिपोर्ट से उसकी हत्या किया जाना स्पष्ट पाया गया। अज्ञात आरोपी के विरुद्ध धारा 302 के तहत अपराध कायम कर विवेचना में लिया गया था।

थाना प्रभारी कोतवाली नवनीत पाटिल ने फिर घटनास्थल का निरीक्षण किया। साथ ही मृतक के परिजन व अन्य लोगों से पूछताछ की। घटनास्थल पर मृतक गोविंद के नाली में गिरने के समय तक उसके मोहल्ले के ही मुकेश यादव, धर्मेंद्र ढ़ीमर, लोकेश नगारची, गिरधर विश्वकर्मा एवं हेमंत यादव पूरे समय उसके साथ में रहने की जानकारी प्राप्त हुई। सभी को पकड़कर पूछताछ की गई। प्रारंभिक पूछताछ में संदेहियों ने तथ्यों को छुपाते हुए गुमराह करने की कोशिश की।कड़ाई से पूछताछ में पांचों संदेही ने अपराध स्वीकार किया। आरोपियों ने बताया कि घटना के दिन गोविंद यादव को अपने मोटरसाइकिल में बैठाकर मछली पकड़ने गए थे। इस दौरान गोविंद यादव शराब के नशे में गाली-गलौच करने लगा, जिसे मना करने पर भी नहीं मान रहा था। तब धर्मेंद्र ढ़ीमर, लोकेश नागरची, हेमंत यादव एवं गिरधर विश्वकर्मा ने उसके साथ मारपीट की। आवेश में आकर मुकेश यादव ने लकड़ी की बेंत से गोविंद यादव के सिर में मारा और साक्ष्य छिपाने के उद्देश्य से गोविंद के मोबाइल को अपने पास रख लिया। आरोपियों के कब्जे से घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल बरामद की। आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश कर न्यायिक रिमांड भेजा गया।