एक्शन में सीएम, इस घटना में लापरवाही पर एसडीएम व सीईओ समेत कई पुलिसकर्मी हुए निलंबित…, जानिए क्या है पूरा मामला…

0
67

बलिया: उत्तर प्रदेश के बलिया स्थित दुर्जनपुर बैरिया में दुकान के चयन के लिए खुली बैठक में मतदान को लेकर एसडीएम और सीओ के सामने एक शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई. इस दौरान ईंट-पत्थर और लाठी-डंडे भी चले. जिसमें कई लोग घायल हो गए. बलिया में 500 लोगों की भीड़ पर गोली चलाने वाले आरोपी धीरेंद्र सिंह उर्फ डब्लू को पुलिस ने पकड़ा लेकिन अभी तक गिरफ्तारी नहीं दिखाई. आरोपी धीरेंद्र बेतुके बयान देने वाले बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह का करीबी है.

बलिया गोलीकांड की खबर सीएम योगी के आवास पर पहुंची तो एसडीएम को सस्पेंड कर दिया. साथ ही सीओ को भी निलंबित कर दिया है. मौके पर मौजूद पुलिसवालों का सस्पेंशन ऑर्डर आया है. बलिया डीएम, एसपी को फटकार लगाई गई है. डीआईजी आजमगढ़ सुभाष चंद्र दुबे से रिपोर्ट मांगी गई है.

ग्राम सभा दुर्जनपुर और हनुमानगंज की कोटे की दो दुकानों के कोटे के लिए पंचायत भवन पर बैठक बुलाई गई थी. एसडीएम बैरिया सुरेश पाल, सीओ बैरिया चंद्रकेश सिंह, बीडीओ बैरिया गजेंद्र प्रताप सिंह के साथ ही रेवती थाने की पुलिस फोर्स मौजूद थी. दुकानों के लिए 4 स्वयं सहायता समूहों ने आवेदन किया था.

दुर्जनपुर की दुकान के लिए दो समूहों के बीच मतदान कराने का निर्णय लिया गया. अधिकारियों ने कहा कि वोटिंग वहीं करेंगे, जिसके पास आधार या कोई दूसरा पहचान पत्र होगा. एक पक्ष के पास कोई आईडी प्रूफ नहीं था. इसको लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद शुरू हो गया.

बलिया पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ ने बताया कि, “ग्राम दुर्जनपुर में सरकारी कोटे की दुकान के लिए चयन की प्रक्रिया चल रही थी. उसमें दो समूह सहायता के लोग थे. एक का समर्थन धीरेंद्र सिंह डब्लू कर रहे थे. दोनों में कहा सुनी हो गयी. जब हंगामा करने लगे तो एसडीएम ने प्रक्रिया को बाधित होते देख बंद कर दिया गया. तभी लोग जा रहे थे. तभी धीरेंद्र सिंह ने फायरिंग कर दी उसमें जयप्रकाट उर्फ गामा को गोली लग गयी. अस्पताल ले जाते समय उनकी मौत हो गयी. सारे मामलों की जांच की जा रही है. मामले में विधिक कार्यवाही की जा रही है.”