Big Breaking : इस विवाद को लेकर बीजेपी नेता ने प्रशासनिक अधिकारियों के सामने युवक को मारी गोली, एक की मौत, 6 घायल… देखे वीडियो…

0
234

बलिया। बलिया जिले के रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव में स्थित पंचायत भवन में गुरुवार को कोटे की दुकान आवंटन को लेकर चल रही खुली बैठक के दौरान दो पक्षों के के विवाद में गोली चलने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। जबकि ईंट पत्थर व लाठी डंडे चलने से तीन महिलाओं सहित आधा दर्जन लोग घायल हो गए।

दरअसल, पंचायत भवन के बाहर टेंट लगाकर हनुमानगंज व दुर्जनपुर गांव के लिए एक-एक कोटे की दुकान आवंटित करने के लिए खुली बैठक चल रही थी। कोटे के के लिए चार महिला समूहों ने आवेदन किया था। दुर्जनपुर की दुकान के लिए मां शायर जगदंबा और शिव शक्ति स्वयं सहायता समूह के बीच वोटिंग से फैसला होने की नौबत आ गई।
तब मौके पर मौजूद एसडीएम सुरेश कुमार पाल और सीओ चन्द्रकेश सिंह ने कहा कि जिसके पास आधार कार्ड अथवा अन्य पहचान पत्र होगा वही वोट करेगा। एक पक्ष के लोग आधार कार्ड लेकर आए थे, लेकिन दूसरे पक्ष के लोग कोई पहचान पत्र लेकर नहीं आए थे।

बस इसी बात को लेकर हंगामा शुरू हो गया। स्थिति बिगड़ती देख एसडीएम के निर्देश पर बीडीओ बैरिया गजेंद्र प्रताप सिंह ने बैठक स्थगित कर दी और मौके से सभी अधिकारी चले गए। इसके बाद दोनो पक्षों के बीच तनाव और बढ़ गया और एक पक्ष ने प्रशासन के विरोध में नारेबाजी शुरु कर दी।
 
देखते ही देखते विवाद इतना बढ़ गया कि ईंट-पत्थर चलने लगे। मौके पर मौजूद पुलिस स्थिति को नियंत्रित करने का प्रयास कर ही रही थी कि एक पक्ष की ओर से से फायरिंग शुरू हो गई। इसमें दुर्जनपुर निवासी जयप्रकाश पाल (48) को चार गोलियां लगीं और वह जमीन पर गिर कर छटपटाने लगे।

तत्काल लोग नजदीकी सीएचसी सोनबरसा लेकर गए, जहां प्राथमिक जांच में ही चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। घायलों में नरेंद्र सिंह, आराधना सिंह, आशा सिंह, राजेंद्र सिंह, अजय सिंह और धर्मेंद्र सिंह गंभीर रूप से घायल हैं। गांव में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है। मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक देवेंद्रनाथ दुबे ने घटनास्थल का निरीक्षण कर ग्रामीणों से घटना की जानकारी ली। उन्होंने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।