कुंभ मेले के खर्च पर उदित राज ने उठाए सवाल, भाजपा बोली- ये है गांधी परिवार की सच्चाई….

0
1
file photo- kumbh mela

नई दिल्ली- अगले साल होने वाले कुंभ मेले को लेकर सत्ता और विपक्ष के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई है। कांग्रेस नेता उदित राज का कहना है कि राजनीतिक शक्तियों को धर्म से अलग रहना चाहिए। उन्होंने  यूपी सरकार द्वारा कुंभ मेले के आयोजन पर 4,200 करोड़ रुपये खर्च करने को लेकर सवाल उठाए। वहीं भाजपा ने कहा कि दुनिया भर के लाखों लोग जिस कार्यक्रम में शामिल होते हैं उसपर किसी को टिप्पणी नहीं करनी चाहिए।

उदित राज ने उठाए खर्च पर सवाल
कांग्रेस नेता उदित राज ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा कुंभ मेले पर किए जाने वाले खर्च को लेकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, धर्म को राजनीतिक शक्ति से अलग रखना चाहिए और राज्य को किसी भी धर्म में हस्तक्षेप/ प्रोत्साहित/ हतोत्साहित नहीं करना चाहिए। इस संदर्भ में, मैंने कुंभ मेले के खर्च का उदाहरण दिया, यह बहुत ज्यादा था। हालांकि अब उन्होंने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया है। उन्होंने मदरसे और कुंभ की तुलना करते हुए गुरुवार को ट्वीट कर कहा था कि असम सरकार ने सरकारी फंड से मदरसे न चलाने का फैसला लिया है उसी तरह यूपी सरकार को कुंभ मेले के आयोजन पर 4,200 करोड़ रुपये खर्च नहीं करने चाहिए।

ये है गांधी परिवार की सच्चाई: संबित पात्रा
उदित राज के विवादित ट्वीट पर पलटवार करते हुए भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, ‘मित्रों ये है गांधी परिवार की सच्चाई। पहले हलफनामा देकर उच्चतम न्यायालय में कहा था भगवान श्री राम मात्र काल्पनिक हैं। उनका कोई अस्तित्व नहीं और अब प्रियंका वाड्रा जी का कहना है की कुंभ मेला भी बंद होना चाहिए। तभी तो दुनिया कहती है राहुल और प्रियंका ‘सुविधा-वादी’ हिंदू हैं।’

सरकार को करना पड़ता है इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित: अनुराग ठाकुर
केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने उदित राज की टिप्पणी पर कहा, ‘कुछ लोगों के पास विकास के लिए विचार और इच्छाएं नहीं होती हैं। जब किसी कार्यक्रम में करोड़ों लोग आते हैं, तो सरकार को इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित और सुविधाएं प्रदान करनी होती हैं। इस तरह के आयोजनों से आधारभूत संरचना के विकास के अवसर मिलते हैं।’

किसी को ऐसे कार्यक्रम पर नहीं करना चाहिए टिप्पणी: बृजेश पाठक
उदित राज के कुंभ मेले पर यूपी सरकार के खर्च पर सवाल उठाने पर उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री बृजेश पाठक ने कहा, ‘कुंभ अब एक वैश्विक कार्यक्रम बन गया है। यह सिर्फ उत्तर प्रदेश सरकार तक सीमित नहीं है। ऐसी घटना पर किसी को भी टिप्पणी नहीं करनी चाहिए, जिसमें दुनिया भर के लाखों लोग शामिल होते हैं।’