दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड की परीक्षा में तीन महिलाएं हुई पास, फिर पुलिस ने तीनों महिलाओं को कर लिया गिरफ्तार, जानिए आखिर क्यु…

0
81
file photo- सांकेतिक तस्वीर

नई दिल्ली- दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड द्वारा 2018 में प्राथमिक शिक्षक के पद के लिए हुई ऑनलाइन परीक्षा पास करने वाली तीन महिलाओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उनपर आरोप है कि ऑनलाइन मोड में हुई परीक्षा में बैठने के लिए उन्होंने प्रॉक्सी उम्मीदवार को रखा था।

हालांकि, परीक्षा के दौरान इन महिलाओं के दस्तावेजों का सत्यापन करने वाले आरोपी का पता अब तक नहीं चल पाया है। उसे गिरफ्तार करने के लिए तलाशी ली जा रही है।
संबंधित अधिकारियों ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि सोमवार को क्राइम ब्रांच द्वारा गिरफ्तार की गई तीनों महिलाओं का चयन रद्द कर दिया गया है और उन्हें डीएसएसएसबी द्वारा आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षाओं में बैठने के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है।
एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि सहायक शिक्षक (प्राथमिक) के पद के लिए हुई यह परीक्षा अक्तूबर और नवंबर 2018 के बीच आयोजित की गई थी, जिसमें कुल 71,912 उम्मीदवार उपस्थित हुए थे।

परीक्षा केंद्र पर उम्मीदवारों को अपने एडमिट कार्ड का दूसरा पृष्ठ जमा करना था जिसमें पहचान के लिए उनकी हाल की तस्वीर लगी होनी थी। डीएसएसएसबी ने पाया कि चार चयनित महिला उम्मीदवारों के एडमिट कार्ड में एक ही उम्मीदवार की तस्वीर थी। इससे यह स्पष्ट हो गया कि सभी चार उम्मीदवारों के लिए एक ही व्यक्ति परीक्षा में उपस्थित हुआ था।

परीक्षा नियंत्रक अनिल कुमार सिंह ने पुलिस को मामले की सूचना दी और इस संबंध में पहली  गिरफ्तारी दिसंबर 2018 को की गई। हालांकि इसके बाद भी अन्य आरोपियों की तलाश जारी थी।

पुलिस उपायुक्त (अपराध) भीष्म सिंह ने कहा कि अन्य तीन आरोपियों में से कोई भी डीएसएसएसबी को अपने आवेदन पत्र में दिए गए पते पर मौजूद नहीं था। कई महीनों तक तलाश करने के बाद तीनों को गिरफ्तार किया गया। 

उनमें से दो महिलाओं ने बताया कि साल 2018 में पंजाबी बाग इलाके में अपने कोचिंग सेंटर के पास उनकी मुलाकात एक लड़की से हुई थी। उसने ही प्रॉक्सी उम्मीदवार के जुगाड़ की बात कही थी, जिसके बाद उन्होंने उस लड़की को पैसे दिए थे। वहीं तीसरी महिला ने भी इसी तरह की कहानी बताई है। उसे भी कोचिंग क्लास के बाहर एक लड़की मिली थी जिसने इस तरह का प्रस्ताव दिया था।