IPL 2020: 10 करोड़ का यह ऑलराउंडर स्टार पंजाब की टीम पर बोझ बना, सिर्फ 48 रन बनाए छह मैचों में….

0
53
file photo-glenn maxwell

सरगुजा समय स्पोर्ट्स– यूएई में चल रहे आईपीएल के 13वें सीजन में बृहस्पतिवार तक 22 मैच खेले जा चुके हैं। सभी टीमों ने यहां अपने कोटे के कम से कम पांच मुकाबले खेल लिए हैं। इसमें अंक तालिका में मुंबई इंडियंस जहां शीर्ष पर है वहीं किंग्स XI पंजाब की टीम छह में से पांच मुकाबले हारकर आखिरी पायदान पर है। पंजाब लगातार चार मैच गंवा चुकी है और अब उसका प्लेऑफ में पहुंचना कठिन हो गया है। सीजन में दमदार शुरुआत करने के बाद पंजाब की टीम पटरी से उतर गई और एक के बाद एक मुकाबले हारती गई। 

पंजाब की इस दुर्दशा के पीछे सबसे बड़ी वजह है उसके स्टार खिलाड़ियों का फ्लॉप होना। इसमें ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल सबसे ज्यादा फिसड्डी साबित हुए हैं। इस बार के सीजन के लिए पंजाब की टीम ने उनपर बड़ा दांव लगाते हुए उन्हें 10.75 करोड़ में अपने साथ जोड़ा। वे इस बार के आईपीएल में दूसरे सबसे महंगे खिलाड़ी हैं। लेकिन इतनी बड़ी कीमत और अपनी छवि से अलग वे बल्ले और गेंद दोनों से ही फ्लॉप हुए हैं। 

आंकड़ों की बात करें तो मैक्सवेल ने अब तक छह मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने मात्र 48 रन बनाए हैं। इसमें 13 रन उनका सर्वाधिक स्कोर है। अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए पहचाने जाने वाले मैक्सवेल का औसत जहां 12 का है वहीं उनकी स्ट्राइक रेट 86 की है। उन्होंने अब तक के टूर्नामेंट में सिर्फ तीन चौके ही लगाए हैं। वहीं गेंदबाजी में बात करें तो उन्होंने छह मैचों में 42 गेंदें डाली हैं, जिसमे 65 रन दिए हैं और सिर्फ एक विकेट ही लिया है।

मैक्सवेल के अलावा पंजाब के एक और विदेशी खिलाड़ी शेल्डन कॉट्रेल जिन्हें टीम ने 8.5 करोड़ में खरीदा है, वे भी कुछ खास नहीं कर पाए हैं। वेस्ट इंडीज के तेज गेंदबाज शेल्डन कॉट्रेल ने छह मैचों में छह विकेट अपने नाम किए हैं। इस दौरान उन्होंने 8.8 की इकॉनमी से रन लुटाये हैं। वे अपनी टीम को शुरुआती सफलता दिलाने में भी नाकाम रहे हैं।

पंजाब की टीम के हार के कई और मुख्य कारण भी हैं। इसमें टीम के बल्लेबाजी क्रम में लगातार बदलाव, प्लेइंग XI को बदलते रहना और केएल राहुल-मयंक अग्रवाल की अपनी सलामी जोड़ी पर अधिक निर्भरता। वहीं टी-20 में 13000 से अधिक रन बनाने वाले विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस गेल को बाहर बैठाना में टीम के लिए महंगा साबित हो रहा है।