देवी मंदिरों में होगी ज्योत प्रज्ज्वलित, लेकिन श्रद्धालुओं को दर्शन की अनुमति नहीं, जिले में इन षर्तों के साथ मनेगा नवरात्र…

0
40


रायपुरं। नवरात्रि पर मंदिरों में ज्योत जलाई जा सकेगी, हालांकि हमेशा की तरह इस पर ज्योत प्रज्जवलन और दर्शन करने को श्रद्धालुओं को अनुमति नहीं दी गई है। मंदिर समिति ही ज्योत जलाएगी।
रायपुर जिला प्रशासन ने बुधवार को इसेलेकर गाइडलाइन जारी कर दी। प्रशासन की ओर से अपर कलेक्टर विनीत नंदनवार ने पांच बिंदुओं की जारी गाइडलाइन में कहा गया है कि मंदिरों में श्रद्धालु ज्योत जलाने के लिए रसीद कटवा सकेंगे।

मंदिर प्रांगण में तय स्थान पर ही ज्योत जलानी होगी। वहां पर फायर सिस्टम का इंतजाम करना अनिवार्य है। ज्योति प्रज्ज्वलन के संदर्भ में सुरक्षा एवं कोविड-19 के रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए, भारत सरकार एवं राज्य शासन द्वारा जारी समस्त दिशा-निर्देशों का पालन अनिवार्यतः करना होगा, यदि किन्हीं निर्देशों का उल्लघंन य करना पाया जाता है, तो सम्पूर्ण जिम्मेदारी मंदिर प्रबंधन समिति की होगी तथा भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188 के तहत कड़ी कार्यवाही की जाएगी।


ऐसा पहली बार दिख रहा है कि शहर में पूजा उत्सव की तैयारियों को लेकर हलचल तेज नहीं कोरोना का संकट सता रहा है। शारदीय नवरात्रि पर्व 17 अक्टूबर से प्रारंभ होने जा रहा है। गाइडलाइन में बैंड बाजा, आतिशबाजी, जगराता, गरबा, डांडिया पर तो सख्त पाबंदी है। इस वजह से दुर्गा उत्सव धूमधाम से नहीं, बल्कि सादगी से मनेगा।
लोग घरों में ही मातारानी का पूजा उत्सव मनाने की सोच रहे हैं। छोटी-बड़ी दुर्गा उत्सव समितियां ऐसा कोई जोखिम नहीं उठाना चाह रही हैं, जिससे कि उत्सव के दौरान कोई संक्रमित हुआ तो उसके इलाज का खर्चा उन्हें उठाना पड़े।