पायल घोष ने कहा, मैंने नहीं मांगी है ऋचा चड्ढा से माफी

0
2

मुम्बई। एक्ट्रेस पायल घोष ने ट्वीट कर लिखा है कि उन्होंने ऋचा चड्ढा से माफी नहीं मांगी है। पायल ने लिखा, “मैं किसी से माफी नहीं मांगने वाली हूं। मैंने कुछ गलत नहीं किया है और न ही मैंने किसी के बारे में कोई गलत बयान दिया है। मैंने वही कहा है जो अनुराग कश्यप ने कहा था।”

बता दें कि खबर आई थी कि पायल घोष ने बुधवार को बॉम्बे हाई कोर्ट से कहा कि ऋचा चड्ढा के बारे में दिए अपने बयान का उन्हें अफसोस है और वह बिना शर्त माफी मांगती हैं। ऋचा के वकीलों ने कहा कि वह माफी स्वीकार करने को तैयार हैं।

एक्ट्रेस पायल घोष ने ट्वीट कर लिखा है कि उन्होंने ऋचा चड्ढा से माफी नहीं मांगी है। पायल ने लिखा, “मैं किसी से माफी नहीं मांगने वाली हूं। मैंने कुछ गलत नहीं किया है और न ही मैंने किसी के बारे में कोई गलत बयान दिया है। मैंने वही कहा है जो अनुराग कश्यप ने कहा था।”

बता दें कि खबर आई थी कि पायल घोष ने बुधवार को बॉम्बे हाई कोर्ट से कहा कि ऋचा चड्ढा के बारे में दिए अपने बयान का उन्हें अफसोस है और वह बिना शर्त माफी मांगती हैं। ऋचा के वकीलों ने कहा कि वह माफी स्वीकार करने को तैयार हैं।

इस हफ्ते की शुरुआत में, ऋचा ने उनके (पायल के) कथित रूप से झूठे, बेबुनियाद, अशोभनीय और अपमानजनक बयान को लेकर हाई कोर्ट में उनके खिलाफ मानहानि का एक मुकदमा दायर किया था, तथा क्षतिपूर्ति की मांग की थी।

गौरतलब है कि पायल ने कश्यप के खिलाफ आरोप लगाते हुए ऋचा और दो अन्य अभिनेत्रियों का नाम विवाद में घसीटा था। ऋचा ने अभिनेता कमाल आर खान को बाद में प्रतिवादी बनाया था।

बुधवार को पायल के वकील नितिन सतपुते ने न्यायमूर्ति ए.के. मेनन से कहा कि पायल को अपने बयान को लेकर अफसोस है और यह ऋचा की मानहानि करने के इरादे से नहीं दिया गया था।

सतपुते ने कहा, ”उन्होंने (पायल ने) यह निष्कपट भाव से कहा। वह ऋचा की एक बड़ी प्रशंसक हैं और उनका सम्मान करती हैं। वह बयान वापस लेने और माफी मांगने को तैयार हैं। उनका इरादा कहीं से भी किसी महिला का अपमान करने का नहीं था।”

ऋचा के वकील वीरेंद्र तुलजापुरकर और सवीना बेदी ने अदालत से कहा कि वह माफी स्वीकार करने को इच्छुक हैं तथा क्षतिपूर्ति का दावा नहीं करेंगे। वहीं, खान की ओर से पेश हुए अधिवक्ता मनोज गडकरी ने अदालत से कहा कि उनके मुवक्किल यह भरोसा दिलाना चाहते हैं कि वह सोशल मीडिया पर ऋचा के खिलाफ कुछ भी पोस्ट नहीं करेंगे।

अदालत ने बयान स्वीकार कर लिया। न्यायमूर्ति मेनन ने एक अंतरिम आदेश भी जारी किया, जिसके जरिए किसी भी व्यक्ति के रिचा के खिलाफ इस तरह की टिप्पणी करने पर रोक लगाई गई है।