सुशांत सिंह ड्रग केस: रिया चक्रवर्ती को जमानत मिलेगी या अभी जेल में ही कटेंगे दिन-रात?

0
6

नयी दिल्ली। सुशांत सिंह राजपूत मौत से जुड़े ड्रग्स मामले में आज यह तय हो जाएगा कि रिया चक्रवर्ती अभी जेल में ही रहेंगी या फिर उन्हें जमानत मिल जाएगी। सुशांत सिंह ड्रग केस में बॉम्बे हाईकोर्ट आज यानी बुधवार को रिया चक्रवर्ती, उनके भाई शौविक चक्रवर्ती, अब्दुल बासित परिवार, सैमुअल मिरांडा और दीपेश सावंत की जमानत याचिका पर अपना फैसला सुना सकता है। इससे पहले कोर्ट ने 29 सितंबर को मामले पर सुनवाई की थी, जिसके बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। बता दें कि 8 सितंबर के बाद से ही रिया चक्रवर्ती न्यायिक हिरासत में मुंबई की भायखला जेल में बंद हैं। 

इससे पहले मंगलवार को सुशांत सिंह राजपूत से जुड़े ड्रग्स केस में गिरफ्तार रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शौविक चक्रवर्ती को एक बार फिर से कोर्ट से बड़ा झटका लगा। स्पेशल एनडीपीएस कोर्ट ने रिया चक्रवर्ती, शौविक चक्रवर्ती  और अन्य की न्यायिक हिरासत की अवधि 20 अक्टूबर तक बढ़ा दी है। पिछली बार विशेष अदालत ने रिया की न्यायिक हिरासत की अवधि 6 अक्टूबर तक बढ़ा दी थी। 8 सितंबर को एनसीबी की गिरफ्तारी के बाद रिया चक्रवर्ती को 22 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। 

रिया की जमानत याचिका इससे पहले दो बार निचली अदालतों द्वारा खारिज की जा चुकी हैं। वहीं, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती, उनके भाई शौविक और ड्रग्स मामले में गिरफ्तार अन्य आरोपियों की जमानत याचिकाओं का कड़ा विरोध करते हुए बॉम्बे हाई कोर्ट से कहा था कि समाज को, खासकर युवाओं को कड़ा संदेश दिए जाने की आवश्यकता है जिससे कि वे नशीले पदार्थो का सेवन न करें। इन लोगों को अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच के दौरान सामने आए ड्र्रग्स से संबंधित मामले में गिरफ्तार किया गया है।

29 सितंबर को बॉम्बे हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति सारंग वी कोटवाल ने अभियोजन और बचाव पक्ष की दलीलों को सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। एनसीबी की ओर से अतिरिक्त महाधिवक्ता अनिल सिंह ने न्यायालय से कहा था कि सामाजिक स्थिति और विधिक ध्येय की उस पृष्ठभूमि को ध्यान में रखना होगा, जिसके तहत नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोपेट्रिक सब्सटेंस अधिनियम-1985 बनाया गया है। उन्होंने तर्क दिया कि अब तक गिरफ्तार किए गए सभी आरोपी व्यक्ति एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं और यह एक सिंडिकेट है। बचाव पक्ष के अधिवक्ता सतीश मानेशिंदे ने तर्क दिया कि अभिनेत्री केवल अपने प्रेमी के लिए ड्रग्स की खरीद में शामिल थी, इसलिए मामले में धारा 27 ए लागू नहीं की जा सकती है। उन्होंने कहा कि यह जमानत योग्य मामला है।

दरअसल, सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद ड्रग्स कनेक्श की जांच कर रही नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने रिया चक्रवर्ती को 8 सितंबर को मुंबई से कई दौर की पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया था। अगर रिया चक्रवर्ती इस मामले में दोषी पाई जाती हैं तो उन्हें करीब 10 साल तक की सजा हो सकती है। बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को अपने बांद्रा स्थित घर में मृत पाए गए थे।

28 वर्षीय रिया चक्रवर्ती को सुशांत सिंह राजपूत से जुड़े ड्रग्स मामले गिरफ्तार किए गए अन्य आरोपियों के बयानों के आधार पर गिरफ्तार किया गया था। एनसीबी ने इस मामले में सभी आरोपियों से कड़ी पूछताछ की थी और कथित ड्रग रैकेट में इन सबकी भूमिका का पता लगाने के लिए एनसीबी ने रिया चक्रवर्ती का सामना सुशांत सिंह राजपूत के घर के मैनेजर सैमुअल मिरांडा, उसके घर के कर्मचारी दीपेश सावंत और शौविक चक्रवर्ती के साथ कराया था। 

सुशांत सिंह राजपूत की मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए एनसीबी ड्रग्स एंगल से जांच कर रही है। एनसीबी को पूछताछ में कई अहम सुराग मिले हैं। यही वजह है कि एनसीबी ने अब तक 17 से अधिक गिरफ्तारियां की है। रिया चक्रवर्ती ने पूछताछ में ड्रग्स के खेल में शामिल 15 बॉलीवुड सेलेब्स के नाम भी बताए हैं। साथ ही उन्होंने यह भी बताया है कि ड्रग्स की खरीद और आपूर्ति के लिए एक बड़ा रैकेट है।