भारत दोनों मोर्चों पर जंग समेत किसी भी संघर्ष के लिए तैयार: एयर चीफ

नई दिल्ली
चीन के साथ लद्दाख में सीमा पर चल रहे गतिरोध के बीच वायुसेना प्रमुख आर के एस भदौरिया ने कहा है कि स्थितियां जटिल हैं लेकिन हम जंग के साथ किसी भी तरह के संघर्ष के लिए तैयार हैं। भदौरिया ने सोमवार को मीडिया से बातचीत में कहा, ‘विश्वास कीजिए हम अच्छी स्थिति में हैं’। वायुसेना प्रमुख ने ये आश्वस्त किया है कि चीन और पाकिस्तान की ओर से तनाव की स्थिति को लेकर भारत पूरी तरह मुस्तैद और तैयार है। भदौरिया ने यह भी कहा, हमारे पड़ोस में और आस-पास के क्षेत्रों में उभरते हुए खतरे को देखते हुए युद्ध लड़ने की एक मजबूत क्षमता हमारे पास होनी चाहिए और मैं आपको बहुत विश्वास के साथ कह सकता हूं, ‘ऑपरेशनली, हम सर्वश्रेष्ठ हैं’। सोमवार को भदौरिया ने कहा कि चीन की चुनौती से निपटने के लिये ‘हम पूरी तरह से तैयार हैं और अच्छी स्थिति में हैं’।

एयर चीफ मार्शल भदौरिया ने लद्दाख में गतिरोध को लेकर कहा कि चीन से निपटने के लिये वायुसेना की तैयारियां अच्छी हैं और हमनें सभी जरूरी इलाकों में तैनाती की है। सीमा पर चीन की तैयारी को लेकर वायुसेना प्रमुख ने कहा कि शत्रु को कमतर आंकने का कोई सवाल ही नहीं है लेकिन ‘आश्वस्त रहिये, किसी भी चुनौती का सामना करने के लिये वायुसेना मजबूती से तैनात है’। इस बातचीत के दौरान जब भदौरिया से यह पूछा गया कि क्या हमलोग अपनी वायु शक्ति को पूरी तरह से उपयोग करने के करीब हा गए हैं तो लद्दाख टेंशन पर बोल रहे आईएएफ के चीफ ने कहा, ‘हां, अगर तैयारी की बात करें तो हम तैयार हैं’। हाल में वायुसेना में औपचारिक रूप से शामिल किये गए राफेल लड़ाकू विमानों के बारे में एयरचीफ मार्शल ने कहा कि इनकी तैनाती से वायुसेना मजबूत हुई है। उन्होंने कहा, राफेल के आने से वायुसेना की ताकत बढ़ी है और ये हमें आगे और मजबूत करेगा। इसकी मदद से हम जल्दी और ठोस कार्रवाई कर पाने में सक्षम हो गए हैं। अगले पांच साल में तेजस, कॉम्बैट हेलिकॉप्टर, ट्रेनर एयरक्राफ्ट समेत कई अन्य ताकतवर हथियार वायुसेना की ताकत को और बढ़ाएंगे। आरकेएस भदौरिया ने कहा, हमने राफेल, चिनूक, अपाचे का परिचालन किया है और उन्हें रिकॉर्ड समय में एकीकृत भी कर लिया है। आगामी 3 वर्षों में हम राफेल और एलसीए मार्क 1 स्क्वाड्रन को भी पूरी ताकत के साथ शुरू करेंगे यही नहीं मिग-29 भी हमारी ताकत को और मजबूत करने के लिए हमारे बेड़े में शामिल किया जा रहा है।