नगरीय प्रशासन मंत्री ने रायपुर शहर के विभिन्न निर्माणाधीन कार्यों का लिया जायजा, राज्य स्थापना दिवस पर राजधानीवासियों को बड़ी सौगात देने की तैयारी…

0
4

रायपुर। नगरीय प्रशासन और श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने आज राजधानी रायपुर में लगभग सवा सौ करोड़ रूपए की लागत से निर्माणाधीन सार्वजनिक विकास कार्यों का अवलोकन किया। उन्होंने अधिकारियों को इन कार्यों को अक्टूबर के माह के अंत तक पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य स्थापना दिवस के मौके पर इन जनपायोगी और जनसुविधा के कार्यों का लोकापर्ण होना है। 

नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. डहरिया ने निरीक्षण के दौरान जन सेवा से जुड़े बड़े प्रोजेक्ट्स को पूरी जिम्मेदारी के साथ त्वरित गति से पूरा करने में जुटे नगर निगम व रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड की सराहना भी की। उल्लेखनीय है कि कलेक्टोरेट परिसर स्थित मल्टी लेवल पार्किंग, मठ पुरैना में अंतर्राज्यीय बस स्टैण्ड, मालवीय रोड में जवाहर बाजार का जीर्णोद्धार, फाफाडीह में शहरी गरीब बच्चों के लिए सुसज्जित शहीद स्मारक स्कूल, पुलिस कोतवाली के पास  छह मंजिला पुलिस कार्यालय भवन और बूढ़ा तालाब सौन्दर्यीकरण सहित विभिन्न निर्माण कार्य रायपुर नगर निगम व स्मार्ट सिटी मिशन के द्वारा किया जा रहा है। 

 बूढ़ा तालाब के कायाकल्प की महत्वाकांक्षी परियोजना के निरीक्षण पर पहुँचे मंत्री डॉ. डहरिया ने कहा कि प्रदूषण की मार से अपनी उपयोगिता खो रहे इस ऐतिहासिक तालाब को रायपुर स्मार्ट सिटी व नगर निगम रायपुर मिलकर ऐसा भव्य स्वरूप दे रहा है। शहर को पहचान देने वाले इस तालाब का जीवन पुनः संवरेगा और एक पर्यटन स्थल के रूप में शहरवासी अपने परिवार के साथ अपना समय यहां पर व्यतीत कर सकेंगे। इस दौरान महापौर एजाज ढेबर ने जल शुद्धिकरण के लिए किए गए हाल के प्रयासों की चर्चा करते हुए बूढ़ा तालाब को नया कलेवर देने बोटिंग, पाथवे, आकर्षक फौव्वारे, बच्चों के लिए प्ले-जोन व सघन वृक्षारोपण के जरिए प्रकृति संरक्षण हेतु परियोजना के विभिन्न चरणों में की जाने वाली कार्यवाही से उन्हें अवगत कराया। 

    मंत्री डॉ. डहरिया ने परियोजना की प्रशंसा करते हुए तालाबों के संरक्षण की दिशा में इसे महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप सभी तालाबों के संरक्षण व संवर्धन की दिशा में पहल की जा रही है। उन्होेंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि प्रदूषित जल व ठोस अपशिष्ट तालाबों में प्रवाहित न हो एवं तालाबों में जाने वाली नालियों से पानी शुद्धिकरण के पश्चात ही तालाबों में डाला जाए। उन्होंने बूढ़ा तालाब के समीप बन रहे एस.टी.पी. के कार्य में अनावश्यक विलंब करने वाली कार्य एजेंसी को कार्य से पृथक कर नई एजेंसी का चयन कर कार्य में तेजी लाने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं।

इस निरीक्षण भ्रमण के दौरान मंत्री डहरिया शहर में तैयार हो रहे तीन अंग्रेजी माध्यम स्कूलों की विस्तार से जानकारी ली। नगर निगम कमिश्नर व स्मार्ट सिटी लिमिटेड के एम.डी. सौरभ कुमार ने अवगत कराया कि जरूरतमंद परिवारों के सैकड़ों बच्चों को शिक्षा का लाभ आधुनिक संसाधनों के साथ अंग्रेजी भाषा में प्राप्त हो सके, इसके लिए शहीद स्मारक स्कूल फाफाडीह, आर.डी. तिवारी स्कूल आमापारा, बी.पी. पुजारी स्कूल राजा तालाब का कायाकल्प स्मार्ट सिटी मिशन के तहत किया जा रहा है। इसके तहत मॉडर्न लैब, मॉड्यूलर फर्नीचर, उच्च गुणवत्ता के दरवाजे व खिड़कियां, कम्प्यूटर लैब, लाइब्रेरी, बच्चों के लंच हेतु डायनिंग व्यवस्था, खेल मैदान तैयार करते हुए पूरे भवन को आकर्षक स्वरूप देते हुए लैंडस्कैपिंग ओपन थिएटर आदि की व्यवस्था आवश्यकता अनुरूप की जा रही है। मंत्री डॉ. डहरिया ने स्कूली बच्चों को उच्च गुणवत्तायुक्त, सर्व सुविधायुक्त भवन में शैक्षणिक संसाधन सुलभ कराने किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। 

मंत्री डॉ. डहरिया कलेक्ट्रेट के समीप निर्माणाधीन बहुमंजिला पार्किंग परिसर का भी अवलोकन किया एवं विश्वास व्यक्त किया कि इस परिसर के पूरा हो जाने से सड़कों पर वाहनों की पार्किंग से होने वाली अव्यवस्था और आवागमन की बाधा दूर होगी। इस दौरान मंत्री, जवाहर बाजार परिसर भी गए, जहां व्यापारियों से मुलाकात कर उनकी जरूरतों की जानकारी ली। जवाहर बाजार में ऊपरी तल, पार्किंग में चल रहे कार्यों को भी पूरी तेजी के साथ जल्द पूरा करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कोतवाली के समीप निर्माणाधीन पुलिस कार्यालय भवन का भी निरीक्षण किया और इसे जल्द पूरा कर जन उपयोगी स्वरूप प्रदान करने के लिए कहा है। भ्रमण के दौरान डॉ. डहरिया ने अंतर्राज्यीय बस स्टैंड के पहुंच मार्ग का भी निरीक्षण किया और सर्व सुविधायुक्त बस स्टैंड के शेष बचे कार्यों को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए। 

    भ्रमण के दौरान नगर निगम कमिश्नर और रायपुर स्मार्ट सिटी के एम. डी. सौरभ कुमार, अतिरिक्त प्रबंध संचालक प्रभात मलिक, महाप्रबंधक (तकनीकी) एस.के. सुंदरानी एमआईसी मेम्बर सुन्द्रर जोगी सहित संबंधित परियोजना के अधिकारी उपस्थित थे।