आलू के फसल पर छाया झुलसा रोग का प्रकोप, किसानों को उठाना पड़ रहा काफी नुकसान, सरकार से मदद की आश….

0
50

बलरामपुर- सामरी पाठ का इलाका आलू की खेती के लिए काफी फेमस है और हर साल किसान यहां इससे लाखों रुपए कमाते हैं लेकिन इस साल किसानों को आलू की फसल पर दोहरी मार झेलनी पड रही है और उन्हें इससे काफी नुकसान भी हो रहा है।

सामरी पाठ में हर साल 90 फीसदी किसान आलू की खेती करते हैं और सैकड़ों हेक्टेयर के क्षेत्रफल में इसका उत्पादन किया जाता है,किसानों ने इस बार दोगुनी मेहनत की थी और लॉकडाउन में ज्यादा कमाने की चाहत थी लेकिन आलू की फसल पर पहले सफेद कीडे का प्रकोप था जिससे कंद बैठ ही नहीं पाया और अब आलू की फसल पर झुलसा रोग का प्रकोप आया हुआ है जिससे आलू की पूरी फसल सूख रही है,लगातार फसलों के इस तरह सूख जाने से किसान बेहद परेसान हैं और इसमें तरह तरह की दवाई का भी छिडकाव कर रहे हैं लेकिन झुलसा रोग का असर कम नहीं हो रहा है।किसानों ने बताया की उन्होने इस फसल के लिए काफी मेहनत किया था और कर्ज लेकर लाखों रुपए का खर्च किया था और उन्हें उम्मीद थी की लाॅकडाउन में अच्छी कमाई होगी लेकिन सफेद कीडे के बाद आई झुलसा रोग ने किसानों की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है

कांग्रेस के ब्लाक अध्यक्ष ने बताया की सामरी पाठ में किसान आलू की खेती पर ही निर्भर रहते हैं और इस खेती से वो 15 गुना तक कमाई करते हैं लेकिन इस साल आए रोग के कारण उन्हें काफी नुकसान हुआ है वो सरकार से इस संबंध में बात करने की बात कर रहे हैं।

वहीं मामले में उद्यानिकी विभाग के अधिकारी भी बता रहे हैं की किसानों को इससे काफी नुकसान हुआ है उन्होने कहा की किसानों को इसमें मदद की जाएगी और इस रोग को रेाकने के लिए दवाईयों का छिडकाव कराया जाएगा।

किसानों ने लॉकडाउन का उपयोग करने की पूरी कोशिस की थी और जमकर मेहनत की थी लेकिन पहले सफेद किट और झुलसा रोग में किसानों की उम्मीद और मेहनत को झुलस कर रख दिया है।बहरहाल देखने वाली बात होगी कि क्या सरकार की तरफ से किसानों की कोई मदद होती है या नहीं।