कोरोना ने डॉक्टर समेत 4 लोगों की ली जान, जानिए संभाग में अब तक का हाल…

0
145
Dr. Narendra singh

सरगुजा समय। अंबिकापुर। 24 घंटे के अंदर प्रतापपुर के पूर्व बीएमओ डॉ. नरेंद्र प्रताप सिंह सहित 4 संक्रमितों की मौत हो गई। र्
ज्ञात हो कि डॉ. नरेंद्र प्रताप सिंह ने नौकरी छोड़ राजनीति ज्वाइन की थी, वे 2018 में जकांछ से प्रतापपुर विधानसभा चुनाव भी लड़े थे। इसके बाद वे भाजपा में शामिल हो गए थे तथा वर्तमान में सांसद प्रतिनिधि थे। अभी प्रतापपुर वे निजी नर्सिंग होम चला रहे थे। उनके निधन की खबर मिलते ही प्रतापपुर क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई है।

कोरोना से अन्य 2 मृत व्यक्ति अंबिकापुर शहर व एक सूरजपुर जिले का निवासी था। अब तक कोरोना पीड़ित 25 लोगों की जान जा चुकी है। सितंबर महीने में मौत के आंकड़ों में काफी वृद्धि हुई है। वहीं जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2400 से ज्यादा हो चुकी है। इसी प्रकार अविभाजित सरगुजा में मौत के आंकड़े दिनों दिन बढ़ते जा रहे हंै।
सोमवार की शाम 7 बजे मोमिनपुरा निवासी 45 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव युवक की मौत इलाज के दौरान मेडिकल कॉलेज अस्पताल के कोविड वार्ड में हो गई। 21 सितंबर को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर उसे भर्ती कराया गया था। वह एक सप्ताह से जिन्दगी और मौत की जंग लड़ रहा था।

आखिरकार वह कोरोना से जंग हार गया। वह डायबिटीज से भी पीड़ित था। चिकित्सकों ने बताया कि उसे सांस लेने में काफी परेशानी हो रही थी। उसे आईसीयू में विशेष निगरानी में रखा गया था। वहीं इसकी मौत के 12 घंटे बाद 60 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव महिला की भी मौत हो गई। उसने मंगलवार की सुबह 6 बजे अंतिम सांसें लीं।
वह शहर के केदारपुर की रहने वाली थी। कोरोना संक्रमित होने पर उसे 27 सितंबर को इलाज के लिए कोविड-19 अस्पताल अंबिकापुर में भर्ती कराया गया था। मंगलवार की शाम लगभग 5 बजे प्रतापपुर के पूर्व बीएमओ व वर्तमान में सांसद प्रतिनिधि डॉ. नरेंद्र प्रताप सिंह की मौत हो गई।

इसके अलावा सूरजपुर जिले के ग्राम राजापुर निवासी 27 वर्षीय व्यक्ति की भी मौत हेा गई। पॉजिटिव पाए जाने के बाद उसका इलाज सूरजपुर कोविड अस्पताल में चल रहा था।

जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या धीरे-धीरे बढकर 24 सौ से ज्यादा हो चुकी है। जबकि 1635 लोग कोरोना से जंग जीत चुके है। वहीं जिले में अंबिकापुर में सबसे ज्यादा 2001 लोग संक्रमित पाए गए हैं। वहीं लखनपुर में 75, उदयपुर में 68, बतौली में 79, लुण्ड्रा में 64, सीतापुर में 91 व मैनपाट में 27 मरीज पाए गए हैं।