आयोध्या: फैसला पढ़ा जा रहा है, जजों ने माना कि वहां मंदिर था , मुस्लिम पक्ष का जमीन पर विशेष कब्जा रखने में नाकाम होने की स्थिति में मुस्लिमो को दूसरी जगह जमीन देने का आदेश

शुरूआती ख़बरों के मुताबिक फैैसला राम लला की पक्ष की तरफ बढ़ता हुआ दिख रहा है। 5 सदस्यीय संविधान पीठ सुबह साढ़े 10 बजे से अपना फैसला पढ़ना शुरू किया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा की हिन्दू सीता रसोई में पूजा करते थे परन्तु अग्रेजो के समय तक मुस्लिमो के नमाज पढने के किसी भी तरह से सबुत नहीं मिला है विवादित ढांचा गिराना कानून का उलंघन माना जाएगा| रामलला का जमींन पर दावा बरकरार रहेगा इस तरह से सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र के तीन महीने में ट्रस्ट बनाए जाने का दिया निर्देश  मुस्लिमो को अयोध्या के अन्दर 5एकड़ जमीन देने का आदेश केंद्र एवं राज्य सरकार को आदेश दिया इस बेहद संवेदनशील मामले को देखते हुए देशभर में पुलिस अलर्ट पर है। ख़बर अपडेट हो रही है….