शिवसेना ने पेश किया अपना, दावा, फ्लोर टेस्ट में खोलेंगे पत्ते

मुंबई । महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर भाजपा (BJP) और शिवसेना (Shiv Sena) के बीच खिंचतान जारी है। राज्य में सरकार के गठन को लेकर दोनों ही पार्टियां राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात कर चुकी है। इन सब के बीच दोनों दलों की ओर से लगातार एक दूसरे पर बयानबाजी का सिलसिला जारी है। शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि हमारे पास अपना मुख्यमंत्री बनाने के लिए पर्याप्त संख्या बाल है।

विधायकों की बैठक के बाद संजय राउत ने कहा, ‘हमारे पास अपना मुख्यमंत्री बनाने के लिए जरूरी संख्या मौजूद है। हमें इसे यहां दिखाने की जरूरत नहीं है। हम जरूरत पड़ने पर सदन के पटल पर अपना बहुमत दिखाएंगे। हमारे पास विकल्प हैं, हम विकल्पों के बिना कुछ नहीं बोलते।

शिवसेना नेता ने कहा कि अगर आपके (भाजपा) पास संख्या है, तो सरकार बनाएं। यदि आपके पास संख्या नहीं है तो इसे स्वीकार करें। संविधान इस देश के लोगों के लिए है, यह उनकी (भाजपा की) निजी संपत्ति नहीं है। हम संविधान को अच्छी तरह से जानते हैं। हम महाराष्ट्र में शिवसेना के सीएम का गठन संवैधानिक रूप से करेंगे।

शिवसेना की स्थिति को दोहराते हुए राउत ने कहा कि अगला महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री उनकी पार्टी का ही होगा। उन्होंने कहा, “लोगों ने गठबंधन के लिए जनादेश दिया है, न कि भाजपा के लिए… सरकार बनाने पर शिवसेना के रुख में कोई बदलाव नहीं हुआ है।इससे पहले महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिला और राज्य की राजनीतिक स्थिति पर चर्चा की।

राज्यपाल से भाजपा की बैठक पर टिप्पणी करते हुए राउत ने कहा कि मैंने चंद्रकांत पाटिल की प्रेस कॉन्फ्रेंस सुनी है। वे कह रहे हैं कि जनादेश महायुती (गठबंधन) के लिए है। फिर आप सरकार बनाने का दावा क्यों नहीं करते? वे कह रहे हैं कि भाजपा का ही मुख्यमंत्री बनेगा। अगर महायुती (गठबंधन) को जनादेश मिला है, तो लोगों ने उन चीजों के लिए भी वोट दिया है, जिन पर भाजपा और शिवसेना के बीच चर्चा हुई थी।