8.9 C
New York
Sunday, October 17, 2021
Home देश कर्नाटक : कई बाधाओं के बावजूद येदियुरप्पा सरकार के 100 दिन पूर्ण

कर्नाटक : कई बाधाओं के बावजूद येदियुरप्पा सरकार के 100 दिन पूर्ण

बेंगलुरु । राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अगुवाई वाली बीएस येदियुरप्पा सरकार ने कई बाधाओं के बावजूद 100 दिन पूरे करने में कामयाबी हासिल की है। सरकार गठन के पहले ही दिन से पार्टी कई मुश्किलों में उलझी हुई है। बीएस येदियुरप्पा के लिए असमय सरकार बनाने में कांग्रेस के 14 और जेडीएस के तीन विधायकों की भूमिका प्रमुख रही लेकिन सत्तारूढ़ पार्टी के लिए यह जश्न का कोई बड़ा क्षण नहीं था, क्योंकि शपथ ग्रहण समारोह में दिग्गज के अलावा विपक्षी पार्टी शामिल नहीं थी।

येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री के रूप में शपथ तो ले ली लेकिन मंत्रिमंडल गठन और उसके विस्तार के लिए 26 दिनों तक इंतजार करना पड़ा। पहली बार कर्नाटक को तीन उपमुख्यमंत्री मिले। ऐसा नहीं है कि पहले उपमुख्यमंत्री नहीं थे। वर्ष 2008 में पहले कार्यकाल के दौरान उपमुख्यमंत्री की प्रथा शुरू हुई लेकिन तीन-तीन उपमुख्यमंत्री नए इतिहास का हिस्सा हैं। एक पूर्व मुख्यमंत्री और दो पूर्व डिप्टी सीएम भी कैबिनेट में शामिल हुए, केवल मंत्रियों के रूप में, जो स्वयं से बहुत अधिक महत्व के बिना जुड़े हुए थे।

अगस्त माह में राज्य में बाढ़ ने कहर बरपाया तो मुख्यमंत्री येदियुरप्पा राज्य भर में प्रभावित क्षेत्रों में अकेले हवाई सर्वे करते दिखे। कैबिनेट के अस्तित्व में आने के बाद मौसम की स्थिति बेहतर हुई और जिला प्रभारी मंत्रियों की घोषणा की गई। हालांकि, तत्काल केंद्रीय राहत के लिए सभी दलीलें हवा में चली गईं। विपक्षी दलों ने इस गंभीर चूक पर सरकार पर निशाना साधा।

उन्होंने पूर्व में आई ऐसी ही स्थिति को याद किया जब 2008 में येदियुरप्पा पहली बार मुख्यमंत्री बने थे। तब तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया था और दिल्ली प्रस्थान करने से पहले राज्य को 1,000 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता देने की घोषणा की थी लेकिन इस बार मुख्यमंत्री येदियुरप्पा के नेतृत्व वाली सरकार के लिए एक विकट स्थिति थी। राज्य ने 25 भाजपा सांसदों को चुना था और लोकसभा में एक निर्दलीय उम्मीदवार का समर्थन उसको मिला। जेडीएस और कांग्रेस दोनों को एक-एक सीट मिली थी। यह परिणाम राज्य में फिर से एक नया इतिहास बना लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ, क्योंकि आज तक बाढ़ पीड़ित राहत राशि से वंचित हैं।

उधर, मुख्यमंत्री पीड़ितों को आश्वासन दे रहे हैं कि केंद्र सरकार जल्द ही राज्य के लिए राहत पैकेज की घोषणा करेगी। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और केंद्रीय वित्त मंत्री सुश्री निर्मला सीतारमण ने भी दौरा किया लेकिन दोनों ने राज्य को किसी भी तरह की सहायता की घोषणा नहीं की।

केंद्र सरकार की आधिकारिक टीमों ने भी प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया था। इस बीच, राज्य सरकार की ओर से राहत उपायों के लिए राज्य को 5,000 करोड़ रुपये की तत्काल रिहाई के लिए अपील की गई लेकिन कोई ठोस परिणाम नहीं मिला। पहली बार बेंगलुरु दक्षिण से सांसद बने तेजस्वी सूर्या ने दावा किया था कि राज्य में राहत कार्यों के लिए केंद्रीय धन की कोई आवश्यकता नहीं है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चंद्रयान-2 अभियान का गवाह बनने के लिए शहर में रात भर रहे लेकिन उन्होंने राज्य के बाढ़ पीड़ितों के लिए एक शब्द भी नहीं कहा। आखिरकार, केंद्र सरकार ने बाढ़ राहत कार्यों के लिए 1,200 करोड़ रुपये जारी किये जबकि 38,000 करोड़ रुपये की मांग की गई थी। अनेक बाधाओं के बावजूद सरकार ने 100 दिन पूरे करने में कामयाबी हासिल तो कर ली है लेकिन राजनीतिक हलकों में बहस जारी है कि अब सरकार के पास और कितने दिन शेष बचे हैं।

शुभांकुर पाण्डेय प्रधान कार्यालय
प्रधान संपादक- शुभांकुर पाण्डेय
प्रधान कार्यालय – लोक नायक जय प्रकाश वार्ड क्रमांक 29 मायापुर अम्बिकापुर जिला सरगुजा छत्तीसगढ़ 497001 नोट :- सरगुजा समय वेबसाइट एवं अख़बार में पोस्ट किये गए समाचार में कई अन्य उपयोगकर्ताओं द्वारा प्रस्तुत सामग्री (समाचार,फोटो,विडियो आदि) शामिल होता है ,जिससे सरगुजा समय इस तरह के सामग्रियों के लिए कोई ज़िम्मेदारी स्वीकार नहीं करता है। सरगुजा समय में प्रकाशित ऐसी सामग्री के लिए संवाददाता/खबर देने वाला स्वयं जिम्मेदार होगा, सरगुजा समय या उसके स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक की कोई भी जिम्मेदारी किसी भी विवाद में नहीं होगी. सभी विवादों का न्यायक्षेत्र अम्बिकापुर जिला सरगुजा छत्तीसगढ़ होगा।
RELATED ARTICLES

Afghanistan: कंधार की मस्जिद में धमाका, 46 लोगों की मौत, कई लोग हुए घायल, जुमे के नमाज में इकट्ठा लोगों को बनाया निशाना

काबुल। दक्षिणी अफगानिस्तान के एक प्रांत की एक मस्जिद में जुमे (शुक्रवार) की नमाज़ के दौरान विस्फोट हुआ है। तालिबान के प्रवक्ता...

Chhattisgarh: CM भूपेश बघेल ने की नक्सलियों से RSS की तुलना, दिया ये बेतुका तर्क…

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने अक्सर अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में बने रहते है।...

Gati Shakti Project: 13 अक्टूबर को गति शक्ति मास्टर प्लान की शुरुआत करेंगे पीएम मोदी, इंफ्रा प्रोजेक्ट्स में आयेगी क्रांति

नई दिल्ली। गति शक्ति प्रोजेक्ट से देश की तस्वीर बदलती नज़र आने वाली है। 13 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस नए...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Ambikapur: मेडिकल कॉलेज अस्पताल के नर्सों और डॉक्टरों पर परिजन ने लगाया गंभीर आरोप, हंगामा करते हुए सड़क किया जाम, तो सफाई में डॉक्टर...

अंबिकापुर। सूरजपुर जिले के रघुनाथनगर से अपने नवजात बच्चे को इलाज कराने आये महेश जायसवाल ने अस्पताल के नर्सो और डॉक्टर पर...

डोंगरगढ़ के कटली शराब दुकान में लूट, आरोपियों की संख्या 6 से 7, लूट डाले शराब की बोतलें

राजनांदगांव । डोंगरगढ़ के अंतर्गत आने वाले ग्राम कटली की अंग्रेजी शराब दुकान में कल रात कुछ अज्ञात चोरों द्वारा दुकान के सुरक्षा...

कांग्रेस के ‘जी 23’ नेताओं से बोलीं सोनिया- फुल टाइम अध्यक्ष की तरह करती हूं काम, मीडिया का सहारा न लें

23’ समूह के नेताओं को निशाने पर लेते हुए कहा कि वह ही पार्टी की स्थायी अध्यक्ष हैं तथा उनके बात करने...

Chhattisgarh: 17 अक्टूबर को बंद का ऐलान, लखीमपुर घटना के विरोध में नक्सलियों का इन राज्यों में बंद, अलर्ट पर पुलिस

रायपुर झारखंड-छत्तीसगढ़ के जंगलों में एक बार फिर से नक्सलियों की धमक फिर तेज हुई है. लखीमपुर घटना पर विरोध करते हुए...

Recent Comments

error: Content is protected !!